प्रियंका गांधी ने झुग्गी वालों से की मुलाकात, , हर 2-3 महीने में जाती हैं मिलने, इलाज में करती हैं मदद

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी दिल्ली आ चुकी हैं और कांग्रेस मुख्यालय में उनका कमरा भी तय हो गया है। इस बीच एबीपी न्यूज़ ने खबर दी है कि महासचिव बनने के बाद पहली बार प्रियंका गांधी दिल्ली की झुग्गी पहुंचीं, जहां उन्होंने लोगों से मुलाकात की।

फोटो : सौजन्य एबीपी न्यूज
फोटो : सौजन्य एबीपी न्यूज

नवजीवन डेस्क

एबीपी न्यूज की खबर के मुताबिक प्रियंका गांधी अपने भाई और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने झुग्गियों से होते हुए पीछे के रास्ते से दाखिल हुईं। इस दौरान वह कई झुग्गीवालों से भी मिलीं। झुग्गियों में वह सुभाष यादव नाम के शख्स और उनके परिवार से मिलीं। बताया जाता है कि प्रियंका गांधी ने वहां पानी भी पिया। इतना ही नहीं उन्होंने झुग्गी में ही रहने वाले सुभाष के बेटे आशीष यादव से भी मुलाकात की, जो बीमार रहते हैं।

एबीपी न्यूज़ ने आशीष के पिता सुभाष से बात की। सुभाष ने बताया कि, “मेरे बेटे को पोलियो हो गया है। प्रियंका गांधी आज हमारे यहां करीब आधे घंटे बैठकर गई हैं और उन्होंने हम लोगों से बात की और पानी पिया।“ सुभाष ने बताया कि प्रियंका गांधी ने आशीष का इलाज करवाया था और कॉपी किताबें भी दी थीं। प्रियंका नेआशीष के लिए गाड़ी देने का वादा भी किया है। सुभाष ने यह भी कहा कि दो महीने पहले भी प्रियंका गांधी इधर से निकली थीं। सुभाष का कहना है कि एक साल पहले राहुल गांधी भी झुग्गियों से निकले थे।

इसके बाद प्रियंका गांधी ने कांग्रेस अध्यक्ष और अपने भाई राहुल गांधी से भी मुलाकात की। 7 फरवरी को भी राहुल ने महासचिवों की बैठक बुलाई है, जिसमें प्रियंका मौजूद रहेंगी। 9 फरवरी को प्रदेश अध्यक्षों की बैठक में भी प्रियंका मौजूद रह सकती हैं.

गौरतलब है कि हाल ही में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रियंका गांधी को पार्टी में महासचिव नियुक्त किया है और उन्हें पूर्वी उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी दी है। वैसे प्रियंका गांधी करीब 20 साल से मां-भाई के लिए प्रचार करती रही हैं।

मंगलवार को कांग्रेस मुख्यालय में प्रियंका गांधी के नाम की तख्ती भी लगा दी गई। उन्हें राहुल गांधी ने अपना बगल वाला कमरा दिया है।

सफलता मिलने पर प्रियंका को दूसरी जिम्मेदारी दी जाएगी- राहुल

अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में राहुल ने कहा है कि पार्टी की महासचिव होने के नाते प्रियंका गांधी की भूमिका राष्ट्रीय स्तर पर ही है. अभी उन्हें एक जिम्मेदारी मिली है और सफलता मिलने पर दूसरी जिम्मेदारी दी जाएगी.

लोकप्रिय