प्रियंका गांधी ने गंगा किनारे दबे शवों के कफन नोचवाने पर उठाया सवाल, योगी सरकार को धर्म-मानवता की दिलाई याद

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि उन्हें जीवित रहते इलाज नहीं दिया गया, मृत्यु पर सम्मान नहीं मिला और ना ही सरकारी आंकड़ों में जगह मिली। अब उनके शरीर से कफन फाड़े जा रहे हैं। यह कैसा स्वच्छता अभियान है। यह मृतक का, धर्म का और मानवता का अनादर है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार द्वारा अब प्रयागराज में नदियों के किनारे रेत में दबे शवों से भगवा कफन हटवाने का मामला सामने आया है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कुछ मजदूरों द्वारा रेत में दबे शवों से भगवा कफन खींचने के वायरल वीडियो पर योगी सरकार को घेरते हुए इसे मृतकों, धर्म और मानवता के प्रति अनादर करार दिया है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने घटना पर एक ट्वीट करते हुए कहा, "जीते जी ढंग से इलाज नहीं मिला। कितनों को सम्मान से अंतिम संस्कार नहीं मिला। सरकारी आंकड़ों में जगह नहीं मिली। अब कब्रों से रामनामी भी छीनी जा रही है। छवि चमकाने की चिंता में दुबली होती सरकार पाप करने पर उतारू है। ये कौन सा सफाई अभियान है? ये अनादर है-मृतक का, धर्म का, मानवता का।"

उत्तर प्रदेश में कोरोना के कहर के बीच बड़ी संख्या में रेत की कब्रों में दफन या गंगा नदी के किनारे पर बहे हुए शव मिलने के बाद राज्य की बीजेपी सरकार की कड़ी आलोचना हुई है, क्योंकि संकट के इस समय में लोगों को दाह संस्कार का खर्च वहन करना मुश्किल हो गया है। ऐसे में बड़े पैमाने पर प्रयागराज समेत प्रदेश के विभिन्न जिलों में नदियों के किनारे लोगों ने अपने परिजनों के शव दफना दिए या नदियों में बहा दिए।


एक विदेशी समाचार एजेंसी द्वारा शूट किए गए एक ड्रोन फुटेज में प्रयागराज में नदी किनारे दफन सैकड़ों शवों को दिखाया गया है, जिन्हें बांस की छड़ियों से अलग किया गया है और वे भगवा कपड़ों से ढंके हुए हैं। प्रयागराज की तस्वीरों में गंगा के किनारे रेत में दबे सैकड़ों शवों को दिखाया गया है। इसके बाद आस-पास के इलाकों में रहने वाले लोगों में दहशत फैल गई क्योंकि कई लोगों ने शिकायत की कि कुत्ते कब्र खोद रहे थे और नदी के किनारे शवों को खा रहे थे।

इस घटना से हुई किरकिरी के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों से राज्य की सभी नदियों के आसपास राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल और प्रांतीय सशस्त्र कांस्टेबुलरी की जल पुलिस द्वारा गश्त करने का आदेश दिया और यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि किसी भी हालत में शवों को पानी में नहीं डाला जाए। इस मुद्दे को हल करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने कहा कि वह नदियों में शव न फेंकने के लिए लोगों में जागरूकता पैदा करने के लिए धार्मिक नेताओं की मदद लेगी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia