प्रयागराज में प्रियंका गांधी ने संगम में लगाई आस्था की डुबकी, आनंद भवन में पंडित नेहरू को दी श्रद्धांजलि

आज मौनी अमावस्या पर प्रयागराज पहुंचीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने संगम तट पहुंचकर आस्था की डुबकी लगाई और पूजन किया। आज प्रयागराज पहुंचने पर वह सबसे पहले आनंद भवन पहुंचीं और वहां पूर्व पीएम पंडित जवाहर लाल नेहरू को श्रद्धांजलि अर्पित की।

फोटो सौजन्यः कांग्रेस 
फोटो सौजन्यः कांग्रेस
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी आज मौनी अमावस्या स्नान पर्व पर प्रयागराज पहुंचीं। इस दौरान उन्होंने सबसे पहले नेहरू-गांधी परिवार के पैतृक आवास आनंद भवन पहुंचीं, जहां अपने परदादा और पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के स्मृति स्थल पर श्रद्घासुमन अर्पित किए। प्रियंका ने इस दौरान आनंद भवन स्थित अनाथालय में बच्चों के साथ भी कुछ पल बिताए। इस दौरान वह एक बच्ची को गोद में लिए हुए नजर आईं।

फोटो सौजन्यः कांग्रेस 
फोटो सौजन्यः कांग्रेस 

इसके बाद प्रियंका गांधी संगम के तट पर पहुंचीं। यहां वह अपनी बेटी के साथ पहुंची और वहां पूजा-अर्चना की और मौनी अमावस्या के मौके पर पवित्र संगम में आस्था की डुबकी लगाई। दौरे पर उनके साथ आईं कांग्रेस विधायक आराधना मिश्रा मोना और दिल्ली से साथ आईं दो अन्य सहयोगियों ने भी यहां स्नान किया। इस दौरान आसपास कड़ी सुरक्षा थी।

संगम में स्नान के बाद प्रियंका गांधी खुद ही नाव चलाते हुए संगम के पार अरैल घाट पहुंचीं। वहां से वह सरस्वती घाट स्थित मनकामेश्वर मंदिर के लिए रवाना हुईं। मंदिर में पूजा अर्चना के बाद वह द्वारका-शारदा पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती से मुलाकात करने पहुंची। इस दौरान भीड़ में से नैनी निवासी सीमा सिंह ने जब आवाज दी तो प्रियंका अपने सुरक्षा घेरे को तोड़ते हुए उसके पास पहुंच गईं और बातचीत करते हुए उसे अपने साथ अपनी गाड़ी तक ले आईं। यह लड़की बीटीसी कर रही है।

फोटो सौजन्यः कांग्रेस 
फोटो सौजन्यः कांग्रेस 

इससे पहले आज संगमनगरी प्रयागराज पहुंचने पर प्रियंका अपने पुरखों के स्मृति स्थल आनंद भवन जाकर भावविभोर हो गईं। अपने बच्चों के साथ प्रयागराज पधारीं प्रियंका गांधी ने अपने पैतृक आवास आनंद भवन में अपने पुरखों को याद किया। उन्होंने देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरु की स्मृतिका पर पुष्पांजलि के साथ ही पंडित मोती लाल नेहरू और इंदिरा गांधी को भी नमन किया।

फोटो सौजन्यः कांग्रेस 
फोटो सौजन्यः कांग्रेस 

इसके बाद उन्होंने यहां बैठक की और फिर यहां पर स्वराज भवन ट्रस्ट से जुड़े कर्मचारियों के स्वजन से भी मुलाकात की। उन्होंने स्वराज भवन ट्रस्ट द्वारा संचालित अनाथालय में रहने वाले बच्चों के साथ भी कुछ पल बिताया। वह कुल एक घंटे तक यहां रूकी रहीं। इस दौरान उन्होंने कई बच्चों से बात की।

फोटो सौजन्यः कांग्रेस 
फोटो सौजन्यः कांग्रेस 

गौरतलब है कि पिछलो लोकसभा चुनाव के प्रचार अभियान की शुरुआत प्रियंका गांधी ने गंगा यात्रा से ही की थी। 17 मार्च 2019 को प्रियंका ने प्रयागराज से जल यात्रा निकाली थी। संगम में हनुमान मंदिर में मत्था टेकने के बाद वह सड़क मार्ग से छतनाग होते हुए दुमदुमा घाट गई थीं। दुमदुमा घाट, कौडिहार तक गंगा के रास्ते स्टीमर से गई थीं। उन्होंने पुलवामा में शहीद महेशराज यादव के परिजनों से मुलाकात भी की थी। इसके बाद वह गंगा के रास्ते कौड़िहार से सीतामढ़ी तक स्टीमर से गई थीं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय