हिरासत में प्रियंका, कमरे के ऊपर उड़ाया जा रहा ड्रोन कैमरा, गेस्ट हाउस के बाहर बैठे सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ता

कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि प्रियंका गांधी के आंदोलन की निगरानी के लिए ड्रोन का उपयोग किया जा रहा है। प्रियंका को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में प्रवेश करने की कोशिश करते हुए सीतापुर में 30 घंटे से अधिक समय पहले हिरासत में लिया गया था।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि प्रियंका गांधी के आंदोलन की निगरानी के लिए ड्रोन का उपयोग किया जा रहा है। प्रियंका को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में प्रवेश करने की कोशिश करते हुए सीतापुर में 30 घंटे से अधिक समय पहले हिरासत में लिया गया था। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बागेल ने ड्रोन निगरानी का एक वीडियो ट्वीट किया, "इसकी कौन जिम्मेदारी लेगा, किसका यह ड्रोन है और क्यों?"

कांग्रेस आरोप लगा रही है कि उन्हें 30 घंटे तक अवैध हिरासत में रखा गया है क्योंकि उन्हें सीतापुर के हरगांव क्षेत्र में सोमवार की सुबह जल्दी हिरासत में ले जाया गया था। पुलिसकर्मियों के साथ एक संक्षिप्त बातचीत के बाद, प्रियंका को पीएसी गेस्ट हाउस में ले जाया गया था और अब तक वह वहीं पर हैं।


जिस गेस्ट हाउस में प्रियंका को रखा गया है उसके बाहर सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ता बैठे हैं, जो उनके रिलीज होने की प्रतीक्षा कर रहे हैं। गेस्ट हाउस के बाहर बैठे कांग्रेस कार्यकर्ता सत्याग्रह और भजन कीर्तन कर रहे हैं। प्रियंका ने कहा है कि जैसे ही वह रिलीज की जाती हैं, वह शोकग्रस्त परिवारों से मिलने के लिए लखीमपुर खीरी के लिए आगे बढ़ेंगी।

वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी प्रियंका को हिरासत में रखने को लेकर ट्वीट किया है। राहुल ने कहा कि यूपी पुलिस ने जिसे हिरासत में रखा है, वो किसी से भी नहीं डरती। उन्होंने आगे लिखा कि वो सच्ची कांग्रेसी है, वो हार मानने वालों में से नहीं है। राहुल ने ट्वीट किया, "जिसे हिरासत में रखा है, वो डरती नहीं है- सच्ची कांग्रेसी है, हार नहीं मानेगी! सत्याग्रह रुकेगा नहीं।"


बता दें कि लखीमपुर खीरी में रविवार को हुई हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे को जिम्मेदार बताया जा रहा है। हालांकि अभी पूरे मामले में जांच चल रही है। हिंसा के बाद इलाके में धारा-144 लगा दी गई है और इंटरनेट पर पाबंदी है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia