दिल्ली चुनाव: पूर्वी दिल्ली में बूथ के बाहर CAA समर्थक बैनर के बाद भी BJP समर्थक जीत को लेकर आश्वस्त नहीं

दिल्ली विधानसभा के लिए मतदान जारी है। पूर्वी दिल्ली के कई इलाकों का दौरा कर सामने आया कि यूं तो बीजेपी समर्थक पूरी कोशिश कर रहे हैं, लेकिन ‘ऑफ रिकॉर्ड’ बातचीत में मानते हैं कि जीत की संभावना दूर है।

फोटो : नवजीवन
फोटो : नवजीवन

पूर्वी दिल्ली के निर्माण विहार इलाके में जैसे ही आप वोट डालने के लिए मतदान केंद्र की तरफ बढ़ते हैं तो वहां आसपास खड़े लोग जय श्रीराम और वंदे मातरम् कहकर आपका स्वागत करते हैं। साथ ही कुछ लोग आपको सैंडविच और चाय आदि पेश करते हुए बीजेपी उम्मीदवार ओ पी शर्मा के पक्ष में वोट डालने की अपील करते हैं। ओ पी शर्मा विश्वास नगर विधानसभा सीट से उम्मीदवार हैं।

वहीं नजदीक ही भगवा रंग की पगड़ी बांधे भारत माता की तस्वीर और सीएए-एनआरसी के समर्थन में लिखे नारे वाले बैनर के पास खड़े एक शख्स का कहना था कि बीजेपी को जीत का भरोसा है और “वह सत्ता में आ रही है।” जब इस संवाददाता ने मतदान प्रतिशत और लोगों के मूड के बारे में बात की तो उसका कहना था कि बीजेपी की आंधी है।

लेकिन जैसे-जैसे बात आगे बढ़ती है, बीजेपी कार्यकर्ता यह मानता है कि आप ने मजबूत उम्मीदवार उतारा है, इसलिए आप बड़े अंतर से जीतने वाली है। यहां से अतुल गुप्ता आप के उम्मीदवार हैं। बीजेपी कार्यकर्ता कहता है कि, “अभी हाल ही में गुप्ता के घर पर ईडी का छापा पड़ा था, फिर भी लोग उन्हें ही वोट देंगे क्योंकि लोग उम्मीदवार को नहीं, केजरीवाल को वोट दे रहे हैं।” इस कार्यकर्ता का मानना है कि बीजेपी ने एक तो मुख्यमंत्री चेहरे का ऐलान नहीं किया और साथ ही मनोज तिवारी जैसे ‘नचैया-गवैया’ को दिल्ली बीजेपी का अध्यक्ष बनाकर बहुत बड़ी गलती की है

अभी तक की बातचीत में जो लोग चुप थे, उन्होंने भी इस बात पर हामी भरी। एक और बीजेपी समर्थक ने कहा कि पूर्वी दिल्ली के पांचों कांग्रेस उम्मीदवारों ने बीजेपी को हराने के लिए निगेटिव प्रचार किया।

यहां से आगे लक्ष्मीनगर जाने पर हमें अलग तस्वीर दिखती है। यह कारोबारियों का इलाका है और कांग्रेस के ए के वालिया का गढ़ माना जाता है। यहां भी बीजेपी समर्थक और कार्यकर्ता वही बात दोहराते हैं। हालांकि वे अपनी जीत के दावे करते हैं, लेकिन जैसे ही बातचीत ‘ऑफ रिकॉर्ड’ होती है, वे मानते हैं कि ध्रुवीकरण की तमाम कोशिशों के बाद भी बीजेपी हार रही है।

लक्ष्मी नगर के जे-ब्लॉक में रहने वाले आरएसएस कार्यकर्ता बताते हैं कि इस चुनाव में प ने बहुत पॉजिटिव प्रचार किया और लोगों पर इसका असर भी पड़ा है। वह मानते हैं कि, “माहौल बनाने में उन्होंने हमें मात दे दी। लेकिन कांग्रेस उम्मीदवार ए के वालिया की मौजूदगी ने कृष्णानगर में चुनाव को त्रिकोणीय बना दिया है, फिर भी जीत आप की ही होगी।”

पांडव नगर में भी लगभग ऐसा ही माहौल है और लोग नतीजों को लेकर यही बात कहते दिखे। इन इलाकों में आप के कार्यकर्ता भारी तादाद में नजर आए। एक बीजेपी समर्थक ने बताया कि, “आप तो लोगों के दिमाग में है।” बीजेपी कार्यकर्ताओं के इन बयानों से चुनावी माहौल समझ में आता है।

ध्यान रहे कि पिछले विधानसभा चुनाव में आप ने पूर्वी दिल्ली की सभी सीटें जीती थीं, लेकिन विश्वास नगर में उसे हार का सामना करना पड़ा था।

लोकप्रिय