अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक भरी गाड़ी मिलने की जांच एनआईए के हवाले, गृह मंत्रालय ने दिया आदेश

एनआईए ने बताया है कि एजेंसी को मुंबई पुलिस द्वारा संभाले जा रहे मामले की जांच की जिम्मेदारी लेने के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय से आदेश मिले हैं। यह मामला मुंबई में उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर मिली स्कॉर्पियो से विस्फोटकों की बरामदगी से संबंधित है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

देश के सबसे अमीर उद्योगपति मुकेश अंबानी के मुंबई स्थित घर एंटीलिया के बाहर संदिग्ध हालत में विस्फोटकों से भरी स्कॉर्पियो कार मिलने की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने संभाल ली है। केंद्रीय एजेंसी ने गृह मंत्रालय से आदेश मिलने के बाद जांच का जिम्मा संभाल लिया है। इस मामले में एनआईए फिर से मामला दर्ज करने की प्रक्रिया में है।

एनआईए ने बताया है कि एजेंसी को मुंबई पुलिस द्वारा संभाले जा रहे मामले की जांच की जिम्मेदारी लेने के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय से आदेश मिले हैं। यह मामला मुंबई के कारमाइकल रोड पर खड़ी महिंद्रा स्कॉर्पियो से विस्फोटकों की बरामदगी से संबंधित है। इस संबंध में 25 फरवरी को मुंबई के गामदेवी पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया था।

दरअसल, 25 फरवरी को दक्षिण मुंबई के कारमाइकल रोड पर मुकेश अंबानी के घर के पास एक स्कॉर्पियो कार संदिग्ध अवस्था में खड़ी मिली थी। सूचना पर पहुंची बम डिटेक्शन एंड डिस्पोजल स्क्वॉड (बीडीडीएस) की टीम की जांच में कार के अंदर से जिलेटिन की 20 छड़ें और एक धमकी भरा पत्र मिला था। वाहन को पुलिस ने जब्त कर लिया था। मुंबई पुलिस की अपराध शाखा इसकी जांच कर रही थी।

खबरों के अनुसार, मुंबई पुलिस की टीम ने वाहन से 21 जिलेटिन की छड़ें बरामद की थीं, जिनका वजन लगभग 125 ग्राम था। पुलिस ने तब कहा था कि विस्फोटक का कुल वजन 2.60 किलोग्राम था। वाहन में फर्जी नंबर प्लेट लगी थी। वाहन की नंबर प्लेट पर अंकित पंजीकरण संख्या अंबानी की सुरक्षा में लगी एक एसयूवी की थी। बाद में पता चला कि यह गाड़ी पुणे के एक कारोबारी मनसुख हिरेन के कब्जे में थी, जिसकी हाल ही में संदिग्ध हालत में लाश मिली है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia