अग्निपथ योजना के खिलाफ बिहार में बवाल! प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन की बोगियों में लगाई आग, BJP विधायक पर भी हमला

अग्निपथ योजना के विरोध में प्रदर्शनकारी सुबह में ही कई रेलवे स्टेशनों पर पहुंचे गए और इस योजना को वापस लेने की मांग को लेकर हंगामा करने लगे। विभिन्न मार्गों से गुरुवार को चलने वाली 22 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है जबकि पांच ट्रेनों का आंशिक समापन कराया जा रहा है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बिहार में सेना भर्ती के अग्निपथ योजना के विरोध में गुरुवार को भी कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन जारी रहा। इस क्रम में सैकड़ों छात्र सड़क और रेल पटरियों पर उतरे, जिससे यातायात बुरी तरह प्रभावित रहा। रेलवे स्टेशनों और रेल पटरियों पर प्रदर्शन करने के कारण रेल परिचालन पर इसका प्रभाव पड़ा है। पूर्व मध्य रेलवे में कई ट्रेनों के परिचालन को रद्द कर दिया गया है।

अग्निपथ योजना के विरोध में प्रदर्शनकारी सुबह में ही कई रेलवे स्टेशनों पर पहुंचे गए और इस योजना को वापस लेने की मांग को लेकर हंगामा करने लगे। प्रदर्शन के कारण कई ट्रेनों को जहां-तहां रोक दिया गया। पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी वीरेंद्र कुमार ने गुरुवार को बताया कि धरना और प्रदर्शन के कारण ट्रेनों के परिचालन में बदलाव किया है। उन्होंने बताया कि विभिन्न मार्गों से गुरुवार को चलने वाली 22 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है जबकि पांच ट्रेनों का आंशिक समापन कराया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि रद्द की गई ट्रेनों में भभुआ रोड-पटना एक्सप्रेस, पटना-सहरसा एक्सप्रेस, सहरसा-समस्तीपुर पैसेंजार (स्पेशल), मनिहारी-जयनगर एक्सप्रेस, पटना डीडीयू मेमू पैसेंजर स्पेशल, दानापुर -रघुनाथपुर मेमू पैसेंजर स्पेशल, समस्तीपुर-सोनपुर पैसेंजर स्पेशल, पटना-गया पैसेंजर स्पेशल ट्रेनें शामिल हैं।

उन्होंने बताया कि पांच ट्रेनों को गंतव्य से पहले ही रोक दिया गया है। उन्होंने बताया समस्तीपुर-सहरसा डेमू पैसेंजर स्पेशल का आंशिक समापन इमली में किया गया है जबकि पूर्णिया-सहरसा डेमू पैसेंजर स्पेशल को दौरभ मधेपुरा में, समस्तीपुर-सहरसा डेमू पैसेंजर स्पेशल का आंशिक समापन सोनवर्षा कचहरी में तथा नरकटियागंज-मुजफ्फरपुर पैसेंजर स्पेशल का आंशिक समापन मझौलिया में कराया जाएगा।

उधर, भाजपा विधायक अरुणा देवी पर बड़ी संख्या में उम्मीदवारों ने हमला करने की कोशिश की, हालांकि वह बाल-बाल बच गई। घटना के वक्त विधायक गुरुवार को नवादा में रेलवे क्रॉसिंग से गुजर रही थीं।

अरुणा देवी एक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए जिला मुख्यालय, नवादा शहर जा रही थीं। जब उनकी कार नवादा रेलवे स्टेशन के रेलवे क्रॉसिंग पर पहुंची तो बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारियों ने उन पर हमला कर दिया। उनके वाहनों पर पथराव किया। वह किसी तरह खुद को बचाने में सफल रही। हालांकि घटना में उनके ड्राइवर को मामूली चोटें आई हैं।

सशस्त्र बलों के लिए केंद्र सरकार की नई भर्ती नीति, अग्निपथ के खिलाफ आंदोलन करने वाले उम्मीदवारों ने भाजपा के नवादा कार्यालय में तोड़फोड़ की और कई संपत्तियों को नष्ट कर दिया। फिर उन्होंने भाजपा कार्यालय में आग लगा दी। आग में 300 से अधिक कुर्सियां, कार्यालय की संपत्तियां और दस्तावेज जल गए।

बिहार के गोपालगंज जिले में आंदोलन कर रहे उम्मीदवारों ने सिधवालिया रेलवे स्टेशन पर एक यात्री ट्रेन के तीन डिब्बों में आग लगा दी। छपरा में, प्रदर्शनकारियों ने 12 ट्रेनों पर हमला किया और उनमें से तीन को आग लगा दी। कैमूर में उन्होंने इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन में आग लगा दी।

बिहार के 15 से अधिक जिलों में गुरुवार को अग्निपथ योजना के खिलाफ बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन और तोड़फोड़ हुई। छपरा में एक आंदोलनकारी छात्र ने कहा कि केंद्र सरकार छात्रों को आपराधिक गतिविधियों में धकेलना चाहती है क्योंकि रक्षा बलों में चार साल की सेवा के बाद उन्हें कुछ नहीं मिलेगा।

एक आंदोलनकारी युवा ने कहा, "चार साल की नौकरी के बाद, एक युवा सैन्य कौशल और युद्ध में प्रशिक्षित हो जाएगा। एक बार जब वह बेरोजगार हो जाएगा, तो वह क्या करेगा? वह आतंकवाद, आपराधिक गतिविधियों की ओर जाएगा और यहां तक कि पुलिस भी ऐसे युवाओं को गिरफ्तार नहीं कर पाएगी। वे पुलिस कर्मियों की तुलना में सैन्य युद्ध में अधिक कुशल होंगे।"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia