बिहार में अग्निपथ का जोरदार विरोध, कई शहरों में हिंसा, 12 जिलों में इंटरनेट सेवाओं पर रोक

सेना भर्ती में अग्निपथ योजना के विरोध में बिहार में तीसरे दिन शुक्रवार को भी प्रदर्शन जारी रहा। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने जमकर उत्पात मचाया। हालांकि तीसरे दिन अब राज्य सरकार की नींद खुली है और उत्पातियों के खिलाफ कार्रवाई शुरू की है।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

सेना भर्ती में अग्निपथ योजना के विरोध में बिहार में तीसरे दिन शुक्रवार को भी प्रदर्शन जारी रहा। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने जमकर उत्पात मचाया। हालांकि तीसरे दिन अब राज्य सरकार की नींद खुली है और उत्पातियों के खिलाफ कार्रवाई शुरू की है।

शुक्रवार की सुबह से ही बिहार के अधिकांश इलाकों में प्रदर्शनकारी रेलवे स्टेशनो और सड़कों पर उतर गये और हंगामा प्रारंभ कर दिया। बेतिया में उपमुख्यमंत्री रेणु देवी, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल के आवास को निशाना बनाया गया तथा भाजपा विधायक विनय बिहारी के वाहन में तोड़फोड़ की गई।


उपद्रवियों पर लगाम लगाने के लिए से अब बिहार सरकार के गृह बिहार ने बिहार के कई जिलों में इंटरनेट सेवा को प्रतिबंधित करने का निर्णय लिया है। कैमूर, भोजपुर, औरंगाबाद, रोहतास, बक्सर, नवादा, पश्चिम चंपारण, समस्तीपुर, लखीसराय, बेगूसराय, वैशाली और सारण में इंटरनेट सेवा को बंद रखने का निर्देश दिया है।

गृह विभाग के आदेश के अनुसार 18 जून को विभिन्न पार्टियों द्वारा बुलाए गए बंद के मद्देनजर राज्य सरकार ने 12 जिलों में फेसबुक, ट्वीटर, व्हाट्सएप समेत 22 साइट और एप्स पर किसी तरह का मैसेज आना-जाना प्रतिबंधित कर दिया है। यह 19 जून तक प्रभावी रहेगा। इधर, पश्चिम चंपारण जिला मुख्यालय बेतिया सदर में धारा 144 लगा दी गई है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia