मध्य प्रदेश में बिना मास्क के पकड़े जाने पर ‘गजब’ सजा! खुले जेल में रखने के साथ कोरोना पर लिखवाया जा रहा निबंध

जिला महिला और बाल विकास अधिकारी राजीव सिंह ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा रूप सिंह स्टेडियम में बनाई गई खुली जेल में शनिवार को लगभग 20 युवाओं को बिना मास्क के घूमते पाए जाने पर लाया गया और सभी से कोरोना विषय पर निबंध लिखवाया गया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर सरकार और प्रशासन द्वारा कड़े कदम उठाए जा रहे हैं। ग्वालियर में प्रशासन ने तय किया है कि जो भी व्यक्ति बिना मास्क के मिलेगा उसे खुली जेल में रहने के साथ कोरोना पर निबंध लिखने की सजा दी जा रही है। ग्वालियर के जिला अधिकारी कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बताया है कि कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए प्रशासन द्वारा रोको टोको अभियान चलाया जा रहा है। जन जागृति के साथ-साथ लापरवाही बरतने वालों के विरूद्ध चालान की कार्रवाई के साथ-साथ खुली जेल में भेजने का काम भी किया जा रहा है। शनिवार को लगभग 20 लोगों को रूपसिंह स्टेडियम स्थित खुली जेल में भेजा गया और वहां पर कोरोना विषय पर निबंध भी लिखवाया गया।

डीएम कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने कहा कि शहर में लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं। साथ ही बिना मास्क के भी घूमते लोग पाए जा रहे हैं। खासकर युवा बिना मास्क के गाड़ियों में घूमते मिलते हैं। इसके साथ ही कुछ लोग मास्क को व्यवस्थित रूप से न लगाकर केवल गले में टांगकर भी घूम रहे हैं। कोरोना संक्रमण को देखते हुए सभी को विशेष सावधानी बरतना आवश्यक है।


जिला महिला और बाल विकास अधिकारी राजीव सिंह ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा रूप सिंह स्टेडियम में बनाई गई खुली जेल में शनिवार को लगभग 20 युवाओं को बिना मास्क के घूमते पाए जाने पर लाया गया और सभी से कोरोना विषय पर निबंध लिखवाया गया। उन्होंने बताया कि शहर में प्रतिदिन चेकिंग के दौरान जो लोग भी बिना मास्क के पाए जायेंगे उन्हें खुली जेल में ले जाया जायेगा।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia