पंजाब सीएम चरणजीत चन्नी ने अपनी सुरक्षा घटाने का दिया आदेश, कहा- अपने लोगों से मुझे कैसा खतरा

सीएम चरणजीत चन्नी का मानना है कि जितनी सुरक्षा व्यवस्था से उनका और अन्य नेताओं का काम चल सकता है, उतने सुरक्षाकर्मी उनके पास रखे जाएं। उन्होंने साफ किया है कि वह बेवजह सुरक्षा लाव-लश्कर अपने साथ लेकर नहीं चलेंगे।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पंजाब के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने आज वीआईपी कल्चर को खत्म करने का संकेत देते हुए अपनी सुरक्षा को कम करने का आदेश दिया है। उन्होंने कहा कि वह बाकी लोगों की तरह ही हैं और उन्हीं के बीच से एक हैं और इसलिए अपने ही भाइयों से बचाने के लिए उन्हें 1000 सुरक्षाकर्मियों की फौज की जरूरत नहीं है।

मुख्यमंत्री कार्यालय ने बताया कि सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने अपनी सुरक्षा घटाने का ऐलान करते हुए कहा कि “मैं आप सब लोगों में से ही एक हूं और मुझे अपने ही भाइयों से बचाने के लिए 1000 सुरक्षाकर्मियों की फौज की जरूरत नहीं है। अपने ही लोगों से मुझे कैसा खतरा।”


गौरतलब है कि सीएम चरणजीत चन्नी ने अपने शपथ ग्रहण के बाद अपने आपको आम आदमी बताया था। जिससे साफ हो गया था कि उनका फोकस पंजाब में वीआईपी कल्चर खत्म करने पर है। सीएम चरणजीत चन्नी का मानना है कि जितनी सुरक्षा व्यवस्था से उनका और अन्य नेताओं का काम चल सकता है, उतने सुरक्षाकर्मी उनके पास रखे जाएं। उन्होंने साफ किया है कि वह बेवजह सुरक्षा लाव-लश्कर अपने साथ लेकर नहीं चलेंगे।

सीएम चन्नी के इस फैसले के बाद अब पंजाब में अन्य नेताओं की सुरक्षा की भी समीक्षा होगी। डिप्टी सीएम सुखजिंदर सिंह रंधावा ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने सभी नेताओं और राज्य में अन्य लोगों को मिली सुरक्षा की समीक्षा करने को कहा है। उन्होंने कहा कि पंजाब की कांग्रेस सरकार वीआइपी कल्चर को पूरी तरह से खत्म करेगी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia