पंजाब में अब केबल टीवी के लिए देना होंगे सिर्फ 100 रुपए महीना, मुख्यमंत्री चन्नी का ऐलान, अवैध बसों का चलना भी होगा बंद

पंजाब के मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी ने ऐलान किया है कि पंजाब में अब केबल टीवी के लिए सिर्फ 100 रुपए महीना देना होगा। उन्होंने कहा कि राज्य में चल रही अवैध बसों को भी बंद कराया जाएगा। ध्यान रहे कि पंजाब में केबल और निजी बसों के व्यवसाय पर बादल परिवार का आधिपत्य है।

फोटो : @CMOPb
फोटो : @CMOPb
user

नवजीवन डेस्क

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने केबल माफिया के खिलाफ जंग की घोषणा करते हुए सोमवार को राज्य भर में गुटबंदी को खत्म करने के लिए केबल टीवी कनेक्शन की मासिक दर 100 रुपये तय करने की घोषणा की। यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए चन्नी ने स्पष्ट रूप से कहा कि केबल माफिया द्वारा लोगों को बेवजह परेशान किया जा रहा है, जो भविष्य में अब और बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

चन्नी ने कहा कि परिवहन और केबल के ऐसे सभी व्यवसाय बादल परिवार के स्वामित्व में हैं और अब लोगों को प्रति माह 100 रुपये से अधिक का भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने स्पष्ट किया कि नई दरों का पालन नहीं करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। चन्नी ने कहा, "अगर कोई आपको परेशान करता है तो मुझे सूचित करें।"

उन्होंने यह भी घोषणा की है कि सभी अवैध बस परमिट रद्द कर दिए जाएंगे और बदले में बेरोजगार युवाओं को आवंटित किए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने यह भी घोषणा की है कि अगले 10 दिनों में नगर परिषदों और निगमों में कार्यरत सभी 'सफाई सेवकों' की सेवाओं को नियमित कर दिया जाएगा और भर्ती के लिए अनुबंध प्रणाली को खत्म करने के अलावा 10 साल की सेवा की कोई शर्त नहीं होगी।

उन्होंने दोहराया कि राज्य सरकार गरीबों के कल्याण और राज्य के समग्र विकास और उसकी समृद्धि को सुनिश्चित करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है।


इस बीच पंजाब सरकार ने सोमवार से उन किसानों के परिजनों को नौकरी देने का काम शुरु कर दिया जो किसान आंदोलन के दौरान शहीद हुए हैं। पंजाब सरकार ने ऐलान किया था कि पंजाब सरकार उन किसानों को वित्तीय सहायत देगी जिन्हें इस साल गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia