पंजाब ने 30 सितंबर तक बढ़ाई कोविड पाबंदियां, अमरिंदर सिंह ने त्यौहारी सीजन को देखते हुए लिया फैसला

सीएम अमरिंदर सिंह ने राजनीतिक दलों सहित कार्यक्रम आयोजकों के लिए यह सुनिश्चित करना भी अनिवार्य कर दिया कि त्यौहार से संबंधित कार्यक्रमों में प्रतिभागियों, प्रबंधन और कर्मचारियों आदि का पूर्ण टीकाकरण हुआ होना चाहिए या कम से कम एक खुराक लिया जा चुका हो।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने शुक्रवार को आगामी त्यौहारी सीजन के मद्देनजर मौजूदा कोविड-19 प्रतिबंधों को 30 सितंबर तक बढ़ाने का आदेश दिया है, जिसमें राजनीतिक सभाओं के साथ साथ सभी सभाओं पर 300 लोग ही जमा हो सकते हैं और मास्क पहनने के साथ-साथ सामाजिक दूरी को सख्ती से लागू करना शामिल है।

सीएम अमरिंदर सिंह ने राजनीतिक दलों सहित कार्यक्रम आयोजकों के लिए यह सुनिश्चित करना भी अनिवार्य कर दिया कि कि त्यौहार से संबंधित कार्यक्रमों में प्रतिभागियों, प्रबंधन और कर्मचारियों आदि को पूरी तरह से टीका लगाया जा चुका हो या कम से कम एक खुराक ली गई हो। सीएम ने मुख्य सचिव विनी महाजन को हर जिले में संयुक्त प्रशासन-पुलिस फ्लाइंग स्क्वायड बनाने का भी निर्देश दिया, ताकि रेस्तरां, मैरिज पैलेस आदि में अनुपालन सुनिश्चित किया जा सके।

त्योहारों के आलोक में निरंतर निगरानी का आह्वान करते हुए मुख्यमंत्री ने सभी राजनीतिक दलों से उदाहरण पेश करने का आग्रह किया, जबकि डीजीपी को सभी द्वारा प्रतिबंधों का अनुपालन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। डीजीपी दिनकर गुप्ता ने कहा कि कोरोना के केस कम होने से लोग मास्क पहनने को लेकर ढिलाई बरतने लगे थे, जिसे स्वास्थ्य विभाग पुलिस की मदद से सख्ती से लागू करे।

वर्चुअल कोविड समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री ने सामाजिक सुरक्षा विभाग को इसी माह आंगनबाड़ी केंद्र खोलने की तैयारी करने का निर्देश दिया है। इन केंद्रों का उद्घाटन स्वास्थ्य विभाग के साथ संयुक्त रूप से काम करने वाले कर्मचारियों के टीकाकरण और अन्य दिशानिर्देशों के अधीन होगा।


मुख्यमंत्री ने संभावित तीसरी लहर की तैयारियों के तहत टेस्ट को वर्तमान 45,000 प्रतिदिन से बढ़ाकर कम से कम 50,000 प्रतिदिन करने का भी आदेश दिया है। जांच के साथ, आउटरीच शिविर और टेस्ट किए जाने चाहिए। विशेष रूप से जहां त्योहारी सीजन के कारण सार्वजनिक सभा होने की उम्मीद है, उन्होंने निर्देश दिया गया कि सभी बुनियादी ढांचे को बढ़ाने के काम में तेजी लाई जानी चाहिए और पूरा किया जाना चाहिए।

यह इंगित करते हुए कि स्थानीय प्रतिबंधों के लिए एक ऑटो ट्रिगर तंत्र के साथ जीआईएस आधारित निगरानी और रोकथाम उपकरण अब सभी जिलों में लाइव है, अमरिंदर सिंह ने स्वास्थ्य विभाग को उन क्षेत्रों या इलाकों के लिए इन उपकरणों का उपयोग करके सूक्ष्म-रोकथाम उपाय करने का निर्देश दिया जहां मामले इससे अधिक हैं।

राज्य की कोविड विशेषज्ञ समिति के प्रमुख के.के. तलवार ने कहा कि वर्तमान में स्थिति नियंत्रण में है। तीसरी लहर के लिए और आगामी त्यौहारी सीजन के लिए भी तैयारी करने की जरूरत है।
उन्होंने मुख्यमंत्री से सभी धार्मिक संगठनों से मंदिरों और गुरुद्वारों से मास्क पहनने की नियमित घोषणा करने की अपील करने का आग्रह किया है। उन्होंने सुझाव दिया कि त्यौहारों के मौसम में दुकानदारों और उनके कर्मचारियों का भी अधिक आक्रामक टेस्ट किया जाना चाहिए।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;