श्रीनगर के हैदरपोरा में मुठभेड़ पर उठे सवाल, मारे गए 2 लोगों के परिवार ने पुलिस के बयान को बताया गलत

इससे पहले श्रीनगर के आईजी विजय कुमार ने बताया था कि मुठभेड़ के दौरान आतंकवादियों का एक ओवरग्राउंड वर्कर और मकान मालिक भी मारा गया। उन्होंने कहा कि गोलीबारी में मकान मालिक की मौत हो गई जबकि किराए पर रहने वाली गुल ने हैदर और उसके सहयोगी को आश्रय दिया था।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर के हैदरपोरा में आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ के दौरान मारे गए दो लोगों के परिवार ने पुलिस के बयान को गलत बताया है। मुठभेड़ सोमवार को एक घर में हुई, जिसमें एक विदेशी आतंकवादी, एक स्थानीय आतंकवादी और दो लोगों सहित चार लोग मारे गए। पुलिस ने कहा था कि चारों में से दो ओवरग्राउंड वर्कर थे।

मुठभेड़ में मारे गए मुदस्सर गुल के परिवार ने मंगलवार को श्रीनगर की प्रेस कॉलोनी में विरोध प्रदर्शन किया और दावा किया कि वह एक डॉक्टर था और आतंकवाद में उसकी कोई भागीदारी नहीं है। प्रदर्शनकारी रिश्तेदार ने कहा, "उसने कल शाम अपनी पत्नी से बात की। उसके दो छोटे बच्चे और बूढ़े माता-पिता हैं। उसके हाथ में बंदूक नहीं था, वह निर्दोष था। वह डॉ. मुदस्सिर था, वह आतंकवादी नहीं है, कृपया हमें शव वापस दे दें।"


मकान मालिक अल्ताफ अहमद के परिवार ने आरोप लगाया कि सुरक्षाबलों ने उन्हें मानव ढाल के रूप में इस्तेमाल किया। अल्ताफ अहमद की बेटी ने कहा, "मेरे चचेरे भाई, जो प्रत्यक्षदर्शी थे, ने कहा कि उन्हें तीन बार ऊपर ले जाया गया, उन्हें दो मौकों पर बख्शा गया और तीसरी बार मार दिया गया।" इस बीच, पीपुल्स कांफ्रेंस के प्रमुख सज्जाद लोन ने मुठभेड़ का पारदर्शी विवरण देने की मांग की है।

इससे पहले पुलिस ने कहा था कि श्रीनगर के हैदरपोरा में सोमवार को हुई मुठभेड़ में चार लोग मारे गए, जिन्हें हैदर और उसके साथी के रूप में पहचाना गया और एक विदेशी आतंकवादी भी शामिल है। पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने बताया कि मुठभेड़ के दौरान आतंकवादियों का एक ओवरग्राउंड वर्कर और मकान मालिक भी मारा गया। उन्होंने बताया कि गोलीबारी में मकान मालिक की मौत हो गई जबकि भवन में किराए पर रहने वाली गुल ने हैदर और उसके सहयोगी को आश्रय दिया था।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia