हिंदी वाले बयान पर चौतरफा घिरे शाह, राहुल गांधी ने घेरा, कमल हासन बोले- कोई शाह, सुल्तान नहीं तोड़ सकता वादा

हिंदी दिवस के मौके पर दिए गएअमित शाह के बयान पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि भारत की कई भाषाएं उसकी कमजोरी नहीं हैं। वहीं कमल हासन ने कहा कि कोई शाह, सम्राट या सुल्तान इस वादे को अचानक से खत्म नहीं कर सकता।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

हिंदी दिवस के मौके पर दिए गए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बयान पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने हमला बोला है। उन्होंने ट्वीट कर सभी क्षेत्रीय भाषाओं का नाम लिया और कहा कि भारत की कई भाषाएं उसकी कमजोरी नहीं हैं।”

अमित शाह की हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाए जाने की अपील का कई नेता विरोध कर रहे हैं। राहुल गांधी से पहले कमल हासन ने अमित शाह पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि 1950 में देशवासियों से वादा किया गया था कि उनकी भाषा और संस्कृति की रक्षा की जाएगी। कोई शाह, सम्राट या सुल्तान इस वादे को अचानक से खत्म नहीं कर सकता।


हासन ने इसे लेकर एक वीडियो भी जारी किया। वीडियो के मुताबिक, वे अशोक स्तंभ और प्रस्तावना के बगल में खड़े होकर कह रहे हैं कि भाषा को लेकर एक और आंदोलन होगा, जो तमिलनाडु में जल्लीकट्टू विरोध प्रदर्शन की तुलना में बहुत बड़ा होगा। हम सभी भाषाओं का सम्मान करते हैं, लेकिन तमिल हमेशा हमारी मातृभाषा रहेगी।

शाह के बयान पर विपक्ष के अलावा अब बीजेपी में भी आवाजें उठनी शुरू हो गई हैं। दक्षिण भारत में बीजेपी के सबसे कद्दावर नेता और कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने पार्टी प्रमुख अमित शाह की देश भर में हिन्दी भाषा को एक आम भाषा के रूप में इस्तेमाल करने की अपील को अप्रत्यक्ष रूप से ना कह दिया है।

तमिलनाडु की प्रमुख पार्टी द्रविड़ मुनेत्र कझगम (डीएमके) के नेता एम के स्टालिन ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया है कि वह अपनी नीतियों में तमिलनाडु के साथ भेदभाव कर रही है और यहां के लोगों पर जबरन हिंदी भाषा को थोपा जा रहा है।

गौरतलब है कि अमित शाह ने हिंदी दिवस के मौके पर कहा था कि विभिन्न भाषाएं और बोलियां हमारे देश की ताकत हैं। लेकिन अब देश को एक भाषा की जरूरत है ताकि यहां पर विदेशी भाषाओं को जगह न मिल पाए। गृहमंत्री अमित शाह ने इस दौरान हिन्दी को राष्ट्रीय भाषा बनाने की अपील की थी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia