राहुल गांधी ने किसानों की राह में कील बिछाने वालों को उखाड़ फेंकने का किया आह्वान, कहा- धोखा जिसकी USP, वो...

इससे पहले सड़कों पर बिछाई गई कीलों और बैरिकेड्स लगाए जाने का एक वीडियो ‘साझा करते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी सरकार पर निशाना साधा और पूछा कि किसानों की राह में कांटे-कीलें बिछाना ‘अमृतकाल’ है या ‘अन्यकाल’?

राहुल गांधी ने किसानों की राह में कील बिछाने वालों को उखाड़ फेंकने का किया आह्वान
राहुल गांधी ने किसानों की राह में कील बिछाने वालों को उखाड़ फेंकने का किया आह्वान
user

नवजीवन डेस्क

किसानों के 13 फरवरी को प्रस्तावित ‘दिल्ली चलो’ मार्च से पहले राजधानी की सीमाओं पर बैरिकेडिंग करने और कीलें बिछाने की खबरों को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बीजेपी की सरकार पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि किसानों की राह में कीलें बिछाने वालों को दिल्ली से उखाड़ फेंको, ये भरोसे के लायक नहीं हैं।

राहुल गांधी ने एक्स पर पोस्ट में लिखा, दिन रात ‘झूठ की खेती’ करने वाले मोदी ने 10 वर्षों में किसानों को सिर्फ ठगा है। दो गुनी आमदनी का वादा कर मोदी ने अन्नदाताओं को एमएसपी के लिए भी तरसा डाला। महंगाई तले दबे किसानों को फसलों का सही दाम न मिलने के कारण उनके कर्ज़े 60% बढ़ गए- नतीजा, लगभग 30 किसानों ने रोज़ अपनी जान गंवाई। धोखा जिसकी यूएसपी हो, वो एमएसपी के नाम पर किसानों के साथ सिर्फ राजनीति कर सकता है, न्याय नहीं। किसानों की राह में कीलें बिछाने वाले भरोसे के लायक नहीं हैं, इनको दिल्ली से उखाड़ फेंको, किसान को न्याय और मुनाफा कांग्रेस देगी।


किसानों के 13 फरवरी को प्रस्तावित ‘दिल्ली चलो’ मार्च से पहले शहर की सीमाओं पर बैरिकेडिंग करने और कीलें बिछाने की खबर को पर कांग्रेस मोदी सरकार के खिलाफ हमलवार दिखी। इससे पहले सड़कों पर बिछाई गई कीलों और बैरिकेड्स लगाए जाने का एक वीडियो ‘साझा करते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी सरकार पर निशाना साधा और पूछा कि किसानों की राह में कांटे-कीलें बिछाना ‘अमृतकाल’ है या ‘अन्यकाल’? इस असंवेदनशील और किसान विरोधी रवैये के कारण 750 किसानों की जान चली गई। किसानों के खिलाफ काम करना और उन्हें आवाज तक नहीं उठाने देना, किस तरह की सरकार ऐसा करती है?’

गौरतलब है कि लगभग 200 किसान संघों द्वारा 13 फरवरी को आयोजित विरोध प्रदर्शन के तहत उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब से बड़ी संख्या में किसानों के मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी की ओर मार्च करने की उम्मीद है। किसानों के मार्च को देखते हुए रविवार को दिल्ली के उत्तरपूर्वी जिले में दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी गई, जो बड़ी सभाओं पर रोक लगाती है। इसी के साथ सिंघू, गाजियाबाद समेत कई सीमाओं पर भारी बैरिकेडिंग करते हुए बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;