कांग्रेस के चिंतन शिविर में शामिल होने उदयपुर पहुंचे राहुल गांधी, CM गहलोत, पार्टी कार्यकर्ताओं ने किया भव्य स्वागत

आज से 15 मई तक होने वाले इस ‘नवसंकल्प चिंतन शिविर’ का फोकस पार्टी की संगठनात्मक चुनौतियों को दुरुस्त कर मजबूती देना और साल 2024 के लोकसभा चुनावों के लिए पार्टी को तैयार करना है।

फोटो: @INCIndia
फोटो: @INCIndia
user

नवजीवन डेस्क

राजस्थान के उदयपुर में आजे से कांग्रेस का तीन दिवसीय ‘नव संकल्प चिंतन शिविर’ शुरू होने जा रहा है। चिंतन शिविर में शामिल होने के लिए कांग्रेस नेता राहुल गांधी उदयपुर पहुंच गए हैं। उदयपुर में राहुल गांधी गांधी का जोरादर स्वागत किया है। इस मौके राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत समेत बड़ी संख्या में पार्टी के नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहे।

13 मई से 15 मई तक होने वाले इस ‘नवसंकल्प चिंतन शिविर’ का फोकस पार्टी की संगठनात्मक चुनौतियों को दुरुस्त कर मजबूती देना और साल 2024 के लोकसभा चुनावों के लिए पार्टी को तैयार करना है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के संबोधन के साथ चिंतन शिविर की शुरूआत होगी। इसके बाद पार्टी द्वारा तय किए गए 6 अहम मुद्दों पर गहन मंथन किया जाएगा। इन मुद्दों में राजनीतिक, संगठनात्मक, आर्थिक, सामाजिक न्याय और कल्याण, कृषि और किसान और युवाओं से जुड़े मुद्दे होंगे।


चिंतन शिविर में तीन दिनों तक इन सभी मुद्दों पर गहन चर्चा के बाद प्रस्ताव तैयार कर पारित किए जाएंगे। आखिरी दिन यानी 15 मई को राहुल गांधी शिविर को संबोधित करेंगे और उसी दिन कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक होगी. जिसमें ‘उदयपुर नवसंकल्प चिंतन शिविर’ के घोषणापत्र को अंतिम रूप दिया जाएगा। शिविर में पार्टी के सांसदों, विधायकों, विधान परिषद सदस्यों, प्रदेश कांग्रेस कमेटियों के पदाधिकारियों और करीब 50 अन्य विशेष आमंत्रित लोगों समेत करीब 430 लोग हिस्सा ले रहे हैं।

शिविर के दौरान पार्टी नेताओं का समूह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अगुवाई में पार्टी संगठन को मजबूती देने, संगठन के बुनियादी ढांचे में बदलाव का ब्लू प्रिंट तैयार करने, उदयपुर घोषणापत्र का खाका तैयार करने और निर्धारित समय सीमा में उसे लागू करने के साथ ही 2024 के लोकसभा चुनावों की तैयारियां शुरू करने की रणनीति पर गहन विचार-विमर्श करेगा। इस शिविर के दौरान सिर्फ औपचारिकता भर न होकर पार्टी संगठन में अर्थपूर्ण बदलाव लाने पर जोर दिया जाएगा और एक्शन प्लान तैयार किया जाएगा।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 13 May 2022, 8:39 AM