बिहार में बाढ़ प्रभावित परिवारों को लेकर राहुल गांधी ने व्यक्त की संवेदना, कांग्रेस कार्यकर्ताओं से की मदद की अपील

राहुल गांधी ने कहा कि बिहार के बाढ़ पीड़ित परिवारों को मेरी संवेदनाएं। महामारी के समय में यह आपदा एक बड़ी त्रासदी है। मैं कांग्रेस के साथियों से अपील करता हूं कि राहत कार्य में हाथ बटाएं। हमारा हर कदम जन सहायता के लिए उठे- यही कांग्रेस विचारधारा की असली पहचान है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बाढ़ से बिहार के कई इलाकों में लोगों का हाल बेहाल है। गांव टापू में तब्दील हो गए हैं। बाढ़ प्रभावित इलाकों में रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है। इस बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस आपदा पर चिंता जाहिर की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, “बिहार के बाढ़ पीड़ित परिवारों को मेरी संवेदनाएं। महामारी के समय में यह आपदा एक बड़ी त्रासदी है। मैं कांग्रेस के साथियों से अपील करता हूं कि राहत कार्य में हाथ बटाएं। हमारा हर कदम जन सहायता के लिए उठे- यही कांग्रेस विचारधारा की असली पहचान है।”

बिहार के कई जिलों में बाढ़ का तांडव देखने को मिला है। पटना में गंगा का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। नालंदा, मोतिहारी, खगड़िया, मुजफ्फरपुर, छपरा और पटना समेत कई जिले बाढ़ की चपेट में हैं। बेतिया में योगापट्टी प्रखंड क्षेत्र के जरलपुर खुटवनिया पंचायत में लोगों के घर पानी में डूब गए हैं।


बिहार के सहरसा में बाढ़ से लोगों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। आलम यह है कि लोग रस्सी के सहारे अपने आशियाने तक पहुंचने को मजबूर हैं। यहां गंडक नदी ने जमकर कहर बरपाया है। सुगौली के आस के इलाके पूरी तरह से डूब गए हैं। रास्ते बंद हैं और लोग कमर तक पानी में आने-जाने को मजबूर हैं।

नालंदा में भी बाढ़ ने दस्तक दे दी है। लगातार हो रही मूसलाधार बारिश ने पंचाने नदी का जलस्तर खतरे के निशान को पार करा दिया है। सलेमपुर इलाके में 50 से ज्यादा घरों में बाढ़ का पानी घुस गया है। करीब 350 बीघे में फैली भिंडी, बैगन और बोरा की फसलें पूरी तरह से पानी में डूब गई हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 23 Jun 2021, 10:38 AM