राहुल गांधी ने बिहार कांग्रेस नेताओं के साथ की वर्चुअल बैठक, चुनाव तैयारियों पर हुई चर्चा, दिए अहम निर्देश

वर्चुअल बैठक में राहुल गांधी ने कहा कि बिहार सांस्कृतिक और सामाजिक रूप से एक गौरवपूर्ण राज्य रहा है। परिस्थितियों और लंबे कुशासन के कारण आज यह विकास के निचले पायदान पर है। ऐसे में एक विचारधारा वाले लोगों को एकत्र होकर राज्य की जनता के लिए काम करना पड़ेगा।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को बिहार कांग्रेस सलाहकार समिति के सभी सदस्यों से इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर वर्चुअल बैठक की। उन्होंने बिहार के कांग्रेस नेताओं से फीडबैक लिया और आवश्यक दिशानिर्देश दिए।

बैठक में राहुल गांधी ने बिहार कांग्रेस नेताओं से कहा कि बिहार की जनता वर्तमान सरकार की नीतियों से त्रस्त और काम से पूरी तरह असंतुष्ट है और राज्य में बदलाव चाहती है। उन्होंने कहा, "इसी बदलाव के लिए सरकार विरोधी सारी ताकत एक साथ मिलकर लड़ाई लड़ें और एक नई सरकार बनाएं, जिससे बिहार की जनता सुकून की जिंदगी जी सके।"

राहुल गांधी ने बैठक में कहा, "बिहार सांस्कृतिक और सामाजिक रूप से एक गौरवपूर्ण राज्य रहा है। परिस्थितियों और लंबे कुशासन के कारण यह आज विकास के निचले पायदान पर खड़ा है। ऐसे हालात में एक सोच और एक विचारधारा वाले लोगों को एक मंच पर एकत्रित होकर राज्य की जनता के लाभ के लिए काम करना पड़ेगा।"

इस बैठक में मौजूद रहे सलाहकार समिति के सदस्यों ने एक स्वर में कहा कि महागठबंधन का स्वरूप जितना जल्दी तय होगा, वह बिहार और पार्टी के लिए उतना ही अच्छा है। बैठक के दौरान बारी-बारी से सभी नेताओं ने अपनी-अपनी बात राहुल गांधी के समक्ष रखी। इस दौरान राहुल गांधी ने पूरे धैर्य के साथ सभी नेताओं को सुना।

बिहार प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता राजेश राठौड़ ने बताया कि राहुल गांधी के साथ बैठक में कांग्रेस महासचिव सह संगठन प्रभारी क़े सी़ वेणुगोपाल, बिहार प्रभारी और राज्यसभा सांसद शक्तिसिंह गोहिल, प्रभारी सचिव वीरेंदर सिंह राठौर और अजय कपूर, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. मदन मोहन झा, कांग्रेस बिहार विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह, कार्यकारी अध्यक्ष डॉ. अशोक कुमार, कौकब कादरी, डॉ. समीर कुमार सिंह और श्याम सुंदर सिंह धीरज सहित कई नेता शामिल हुए।

लोकप्रिय
next