ज्वलंत मुद्दों को उठाते हैं राहुल गांधी, मुद्दों को भटकाने के लिए किया जा रहा है टारगेट, कांग्रेस का सरकार पर हमला

गहलोत ने कहा कि RSS-BJP के नेता लोग देश को लूट रहे हैं। भ्रष्टाचार 10 गुना बढ़ गया है। इन बातों पर कोई भी ध्यान नहीं दे रहा है। इन सब बातों से ध्यान हटाने के लिए कांग्रेस और राहुल गांधी को टारगेट किया जा रहा है।

फोटो: विपिन
फोटो: विपिन
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस नेता राहुल गांधी आज लगातार तीसरे दिन ईडी के सामने पेश होंगे। इससे पहले कांग्रेस मुख्यालय में कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने प्रेस से बात की। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने प्रसे से बात करते हुए कहा, "तीन दिन से लगातार मीडिया के साथ संवाद करते रहे हैं। सारी जानकारियां मीडिया को हो चुकी हैं। मीडिया की भूमिका बहुत बड़ी होती है। मीडिया लोकतंत्र का चौथा स्तंभ कहलाता है। जो कुछ भी देश में हो रहा है ऐसा मैंने करीब 42 साल के राजनीतिक करियर में नहीं देखा है। मेरा मानना है कि कांग्रेस के शासन में लगभग जो 70 सालों में इतिहास बना और आज आधुनिक भारत दिख रहा है। यह 8 साल का काला अध्याय है। जब इस 8 साल का इतिहास देखा जाएगा तो यह काला अध्याय के रूप में लिखा जाएगा। काला अध्याय इसलिए क्योंकि संविधान की धज्जियां उड़ रही हैं। लोकतंत्र खतरे में है। पूरे देशवासी दुखी हैं, तनाव में हैं।

गहलोत ने कहा, "आज गली-गली में देश में तनाव है। छोटे-छोटे गांवों में भी लोग आक्रोशित हैं और वह नारे लगा रह हैं, चाहे वह हिंदू हों या मुसलमान। माहौल विस्फोटक बन गया है। राहुल गांधी जी ने जो लंदन में कहा कि देश में हर जगह पर केरोसिन छिड़क दिया गया है। इस बात को हम सबको समझ जाना चाहिए कि उसके मायने क्या थे। वही हो रहा है, दंगे भड़के आपने देखा। रामनवमी पर सात राज्यों में दंगे भड़क गए। सब जगहों पर एक ही ट्रेंड है। शुक्रवार की नमाज पढ़ी गई तो जुलूस निकले और जगह-जगह दंगे हुए। देश में ऐसी स्थिति बन गई। भ्रष्टाचार की तो हदें पार हो गई है। आरएसएस और बीजेपी के नेता लोग देश को लूट रहे हैं। भ्रष्टाचार 10 गुना बढ़ गया है। इन बातों पर कोई भी ध्यान नहीं दे रहा है। इन सब बातों से ध्यान हटाने के लिए कांग्रेस और राहुल गांधी को टारगेट किया जा रहा है। देश की सभी विपक्षी पार्टियां मान गई, एक मात्र नेता राहुल गांधी हैं जो मोदी जी और उनकी सरकार का मुकाबला कर रहे हैं।

अशोक गहलोत ने कहा कि कोई भी ऐसा कोई कारण नहीं था, जिसके चलते राहुल गांधी को नोटिस दिया गया। नेशनल हेराल्ड को आजादी की जंग में शुरू किया गया था। करीब 5 हजार स्वतंत्रता सेनानी इसके मेंबर बने। आजादी की जंग में इस अखबार पर बैन लगा दिया गया। बाद में हम लोगों ने सोनिया जी से यह मांग की थी कि इस अखबर को रिवाइव किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अखबार को साल 2002 से लेकर 2012 तक 100 किश्तों में 90 करोड़ रुपये दिए गए। इस रूप में अखबार को रिवाइव किया गया।


कांग्रेस वरिष्ठ नेता और छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने कहा, "पूरे देश में जो हालात हैं वह सबके सामने है। तीन दिन से हम लोग दिल्ली में है और पहले दिन 200 लोगों को अनुमति दी गई। कल कुछ नेताओं को ही अनुमति दी गई। आज तो हद हो गई कि हम अपने स्टाफ को भी नहीं ला सकते। हम लोगों से कहा गया है कि केवल दो मुख्यमंत्री ही यहां आ पाएंगे और किसी को अनुमति नहीं है। कि प्रकार से पार्टी कार्यालय में हम लोग पहुंचे हैं, ये आप सब जानते हैं। ऐसी स्थिति कभी नहीं हुई थी। राजनीतिक दल अपने पार्टी कार्यालय में न जा सकें यह हालात पहली बार हुआ है। यह स्थिति बनी क्यों? इसलिए पिछले 8 सालों से जो कुछ भी हो रहा है। उस पर सिर्फ एक व्यक्ति उनकी गलत नीतियों, उनके गलते फैसलों पर उंगली रखकर चल रहा है। वह राहुल गांधी जी हैं।"

भूपेश बघेल ने कहा, "चाहे भूमि अधिग्रहण बिल वापसी का मामला हो, नोटबंदी, जीएसटी या फिर लॉकडाउन लगाने की स्थिति का हो। चाहे वैश्विक महामारी को लेकर तैयारी के संदर्भ में हो। देश में बढ़ रहे बेरोजगारी, महंगाई की बात हो। अन्नदाताओं को उनकी मेहनत की कीमत न मिल रहा हो, देश की सीम पर सुरक्षा का मुद्दा हो। इन सभी मुद्दों पर लगातार राहुल गांधी आवाज बुलंद कर रहे हैं।" ऐसी स्थिति में जब देश में महंगाई, बेरोजगारी बढ़ रही है तो इन लोगों ने तय किया कि इस व्यक्ति को दबा दिया जाए, परेशान किया जाए। ऐसे में हमारे खिलाफ कोई बोल नहीं पाएगा। इनका (बीजेपी) जो राष्ट्रवाद है वह आयातित राष्ट्रवाद है। उनके राष्ट्रवाद में यही है कि जो भी विरोध में हो उसके दबा दिया जाए, कुचल दिया जाए, रौंद दिया जाए।"

सीएम बघेल ने कहा, "यह सारी गतिविधियां आप देख रहे हैं कि जिस तरह से केंद्रीय एजेंसियों का दुरूपयोग केंद्र की सरकार कर रही है। जितने भी विपक्षी दल के लोग हैं। उसे किसी न किसी मामले में फंसा कर मुंह को बंद करने की कोशिश की जा रही है। अभी उन्होंने राहुल गांधी के मुंह में हाथ डालने की कोशिश की है। मैं समझता हूं कि उनको बहुत महंगी पड़ेगी।"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 15 Jun 2022, 10:31 AM