राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा पर राहुल गांधी बोले- राजनीतिक समारोह बना 22 जनवरी, BJP-RSS ने दिया चुनावी फ्लेवर

राहुल गांधी ने कहा कि मेरे लिए धर्म बहुत व्यक्तिगत विषय है। धर्म का इस्तेमाल निजी जीवन के आचरण में होना चाहिए। मगर, बीजेपी और आरएसएस ने उसे भी एक चुनावी, एक राजनीतिक फ्लेवर दे दिया।

फोटोः विपिन
फोटोः विपिन
user

नवजीवन डेस्क

राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि 22 जनवरी राजनीतिक समारोह बन गया है। उन्होंने कहा कि मेरे लिए धर्म बहुत व्यक्तिगत विषय है। धर्म का इस्तेमाल निजी जीवन के आचरण में होना चाहिए। मगर, बीजेपी और आरएसएस ने उसे भी एक चुनावी, एक राजनीतिक फ्लेवर दे दिया।

इससे पहले राहुल गांधी ने कहा था कि राजनीक कार्यक्रम बन गया है। बीजेपी-आरएसएस इसे चुनावी रंग दे रहे हैं और इसलिए इसमें शामिल होना मुश्किल है। धर्म के प्रमुख लोगों (शंकराचार्य) तक ने कहा है यह धार्मिक कार्यक्रम नहीं है। कांग्रेस नेता ने कहा यही कारण है कांग्रेस के प्रमुख नेताओं ने निमंत्रण अस्वीकार कर दिया है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;