न्यू इंडिया का न्यू नारा, हर-घर बेरोजगारी, घर-घर बेरोजगारी, 45 करोड़ लोगों ने छोड़ी नौकरी की आस- राहुल गांधी

एक रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले पांच सालों में 2.1 करोड़ नौकरियां घटी हैं। इस रिपोर्ट में चौंकाने वाली बात यह है कि 45 करोड़ ऐसे लोग हैं जिन्होंने नौकरी की तलाश ही छोड़ दी हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि सबसे बुरा हाल महिलाओं का है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बेरोजगारी के मुद्दे पर केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, “न्यू इंडिया का न्यू नारा, हर-घर बेरोजगारी, घर-घर बेरोजगारी। 75 सालों में मोदी जी देश के पहले ऐसे प्रधानमंत्री हैं जिनके ‘Masterstrokes’ से 45 करोड़ से ज्यादा लोग नौकरी पाने की उम्मीद ही छोड़ चुके हैं।”

एक रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले पांच सालों में 2.1 करोड़ नौकरियां घटी हैं। इस रिपोर्ट में चौंकाने वाली बात यह है कि देश में 45 करोड़ ऐसे लोग हैं, जिन्होंने नौकरी की तलाश ही छोड़ दी हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि सबसे बुरा हाल महिलाओं का है। सिर्फ 9 फीसदी महिलाएं ऐसी हैं, जिनकें पास काम है या फिर वह भी काम की तलाश में हैं। राहुल गांधी ने इसी रिपोर्ट को आधार बनाते हुए मोदी सरकार पर निशाना साधा है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia