राहुल गांधी ने पैंगोंग झील पर चीन के पुल बनाने पर सरकार को घेरा, पूछा- क्या पीएम कभी इस सुरक्षा चूक पर बोलेंगे?

दो दिन पहले पंजाब में प्रधानमंत्री की सुरक्षा में कथित चूक के मामले को देश भर में मुद्दा बनाए जाने के बीच राहुल गांधी ने सीमा मुद्दे पर पीएम मोदी की चुप्पी पर सवाल उठाया है। राहुल गांधी पहले भी पीएम मोदी पर चीनी आक्रामकता पर चुप रहने का आरोप लगा चुके हैं।

फाइल फोटोः सोशल मीडिया
फाइल फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

चीनी सेना द्वारा लद्दाख में एलएसी के करीब पैंगोंग त्सो झील पर एक पुल के निर्माण की खबरों के बाद कांग्रेस ने सीमा पर स्थिति को लेकर मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शुक्रवार को एक ट्वीट में कहा, "हमारी सीमाओं पर जो हो रहा है, वह राष्ट्रीय सुरक्षा की एक बड़ी चूक है। क्या पीएम कभी इसके बारे में बात करेंगे?"

दो दिन पहले पंजाब में प्रधानमंत्री की कथित सुरक्षा भंग का आरोप लगाकर बीजेपी द्वारा इसे मुद्दा बनाए जाने के बीच राहुल गांधी ने सीमा मुद्दे पर प्रधानमंत्री की 'चुप्पी' पर सवाल उठाया है।
दरअसल कुछ दिनों पहले की रिपोर्ट के अनुसार, एक नई उपग्रह छवि सामने आई है, जिसमें पूर्वी लद्दाख सेक्टर में पैंगोंग झील के दोनों किनारों पर पुल का निर्माण दिखाया गया है। यह इलाका एलएसी से करीब 40 किमी दूर चीन की तरफ है। सैन्य विशेषज्ञों के अनुसार यह पुल क्षेत्र में चीनी सेना पीएलए की तेज आवाजाही सुनिश्चित करेगा।


वहीं इस निर्माण के मुद्दे के तूल पकड़ने के बाद मोदी सरकार ने गुरुवार को इस पर प्रतिक्रिया दी और कहा कि पैंगोंग झील पर चीनी पक्ष द्वारा एक पुल बनाने की रिपोर्ट के संबंध में, सरकार इस गतिविधि की बारीकी से निगरानी कर रही है। इस पुल का निर्माण उन इलाकों में किया जा रहा है, जिन पर करीब 60 साल से चीन का अवैध कब्जा है।

सरकार हमारे सुरक्षा हितों की पूरी तरह से रक्षा सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है। इन प्रयासों के तहत, सरकार ने भी, पिछले सात वर्षों में, सीमावर्ती बुनियादी ढांचे के विकास के लिए बजट में उल्लेखनीय वृद्धि की है और पहले से कहीं अधिक सड़कों और पुलों को पूरा किया है। इनसे स्थानीय आबादी के साथ-साथ सशस्त्र बलों को साजो-सामान की सहायता के लिए बहुत आवश्यक कनेक्टिविटी प्रदान की गई है। हालांकि, चीन के ताजा कदम के बाद गंभीर सवाल खड़े हो गए हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia