अरुणाचल प्रदेश में राहुल बोले- नागरिकता बिल नार्थ ईस्ट पर सबसे बड़ा हमला, बिल को संसद में नहीं होने देंगे पास

अरुणाचल प्रदेश के ईटानगर में रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने नागरिकता बिल का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि नागरिकता बिल नार्थ ईस्ट के लोगों पर सबसे बड़ा हमला है। उन्होंने कहा कि हम इस बिल को संसद में पास नहीं होने देंगे।

फोटो: @INCIndia
फोटो: @INCIndia

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अरुणाचल प्रदेश के ईटानगर में रैली को संबोधित किया। रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी अरुणाचल के साथ दिल का रिश्ता चाहती है। उन्होंने कहा, “हमारा राजनीति रिश्ता तो है, लेकिन हमारा दिल का रिश्ता भी हैं। हम आपके ऊपर, आपकी भाषा और संस्कृति के ऊपर कभी हमले नहीं करते।” उन्होंने कहा, “अरुणाचल को देश से जोड़ने की जरूरत है। यहां पर ज्यादा से ज्यादा विकास की जरूरत है। राज्य में ज्यादा से ज्यादा सड़के बनें, स्कूल और अस्पताल बनें हम ऐसा चाहते हैं।”

राहुल गांधी ने कहा, “हम जानते हैं कि यहां पर अलग-अलग तरह की कठिनाइयां हैं, इसलिए कांग्रेस की सरकार ने अरुणाचल को विशेष राज्य का दर्जा दिया था, सिर्फ दर्जा ही नहीं दिया था, बल्कि दिल से रिश्ता जोड़ा था। जो स्पेशल स्टेटस छीना गया है, उसे हम लागू करेंगे। जैसे ही केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनेगी हम यह फैसला लेंगे।” कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, “फैसले लेने से पहले अरुणाचल से पूछा जाना चाहिए कि आखिर वह क्या चाहता है। उन्होंने कहा कि मेरा यह मानना है कि फैसले राज्य के हिसाब से होने चाहिए।

उन्होंने आगे कहा, “बीजेपी नॉर्थ ईस्ट की संस्कृति को बर्बाद करना चाहती है। यह बीजेपी और आरएसस की सोच है। जो लोग आरएसएस से जुड़े हैं, उन्हें विश्वविद्यालयों में जगह दी जा रही है। आरएसएस के लोगों को कुलपति बनाया जा रहा है।”

रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने नागरिकता बिल का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि नागरिकता बिल नार्थ ईस्ट के लोगों पर सबसे बड़ा हमला है। उन्होंने कहा कि हम इस बिल को संसद में पास नहीं होने देंगे। उन्होंने आगे कहा , “अरुणाचल के युवा बाकी प्रदेशों में जाकर नार्थ इस्ट का नाम रौशन करते हैं, अपने काम से पूरी दुनिया में नाम रौशन करते हैं। लेकिन, यहां नरेन्द्र मोदी युवाओं को गोली मारकर शहीद करता है।”

पुलवामा हमले पर भी राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा। राहुल गांधी ने कहा कि पुलवामा में हमला हुआ, मैंने अपना प्रोग्राम रद्द किया, ब्लास्ट होने के तुरंत बाद नरेंद्र मोदी जिम कॉर्बेट नैशनल पार्क में अपनी पिक्चर बना रहे थे। वहां पुलवामा में जवान शहीए हुए और पीएम कई घंटों तक मेकअप लगा के बाल बना के पोज कर रहे थे।

राहुल गांधी ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने नीति आयोग को खत्म कर दिया है। उन्होंने कहा कि यह बात किसी को समझ नहीं आ रही है कि आखिर नीति आयोग क्या कर रहा है। उन्होंने कहा कि पहले योजना आयोग अरुणाचल से पूछ कर फैसले लेता था, लेकिन आज मोदी सरकार खुद फैसले लेती है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, “जीएसटी लागू कर मोदी सरकार ने देश के छोटे व्यापारियों और दुकानदारों को बर्बाद करने का काम किया है। हमारी सरकार आई तो हम जीएसटी में सुधार करेंगे। कम से कम आपको टैक्स देना पड़े जीएसटी में हम ऐसा प्रावधान करेंगे।”

राहुल गांधी ने कहा कि जीएसटी के बाद देश के व्यापारियों और दुकानदारों पर मोदी सरकार ने नोटबंदी के जरिए हमला किया। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने नोटबंदी के जरिए आम जनता पर भी हमला किया। लोगों को मोदी की वजह से लाइन में लगना पड़ा और कई लोगों की जान चली गई।

राहुल गांधी ने कहा कि 30 हजार करोड़ रुपये की चोरी करने के बाद पीएम मोदी कह रहे हैं कि हम सब चौकीदार हैं। इससे पहले 2014 के लोकसभा चुनाव में कहते थे कि मुझे चौकीकाद बनाइए। वे सिर्फ खुद को चौकीदार बनाए जाने की बात करते थे। राहुल गांधी ने मंच से राफेल का जिक्र किया है। उन्होंने कहा कि राफेल सौदे के जरिए पीएम मोदी ने चोरी की है। राहुल ने कहा, “पीएम मोदी ने 30 हजार करोड़ रुपये चोरी कर अनिल अंबानी की जेब में डाल दिया। मोदी फ्रांस गए और राफेल सौदे को बदलवा दिया, ताकि उनके मित्र अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ रुपये मिल सके।”

राहुल गांधी ने कहा कि जब सीबीआई निदेशक ने राफेल डील की जांच की कोशिश की तो मोदी सरकार ने सीबीआई के निदेशक को छुट्टी पर भेज दिया। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के कहने पर दोबारा मोदी सरकार ने सीबीआई के निदेशक को बहाल तो किया, लेकिन बाद में उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया। उन्होंने कहा कि दस्तावेजों से यह साबित हुआ है कि चौकीदार ने चोरी की है।

मंच से राहुल गांधी न्यूनतम आमदनी का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि हमने क्रांतिकारी फैसला लिया है। राहुल ने कहा कि केंद्र में सरकार बनने के बाद हम सभी के लिए न्यूनतम आमदनी की गारंटी देंगे। उन्होंने कहा कि अगर मोदी सरकार चंद उद्योगपतियों को लाखों करोड़ रुपये दे सकते हैं तो हम यह काम कर सकते हैं।

Published: 19 Mar 2019, 4:00 PM
लोकप्रिय