देश के छात्रों के नाम राहुल गांधी का पत्र, कहा, आप हैं राष्ट्र-निर्माता

राहुल गांधी ने अपने पत्र में छात्रों के मुख्य सरोकारों की भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि उच्च शिक्षा शुल्क, सीमित सीटों के लिए कठिन प्रतिस्पर्धा, सूचना की कमी, शिक्षा और रोजगार के बीच का बड़ा अंतर छात्रों की मुख्य समस्या है। 

By नवजीवन डेस्क

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भारत के छात्रों के नाम एक पत्र लिखा है। अपने पत्र में उन्होंने राष्ट्र-निर्माण में छात्र समुदाय की भूमिका को रेखांकित किया है। राहुल गांधी ने कहा, “छात्र राष्ट्र-निर्माता होते हैं क्योंकि राष्ट्र युद्ध से नहीं, बल्कि विज्ञान, तकनीक, कला एवं साहित्य और तार्किकता एवं न्याय को अपनाने से बनता है। और देश का हर छात्र इन मोर्चों पर डटकर खड़ा है।”

देश के छात्रों के नाम राहुल गांधी का पत्र, कहा, आप हैं राष्ट्र-निर्माता

कांग्रेस अध्यक्ष ने अपना अनुभव साझा करते हुए कहा कि वे छात्रों की उर्जा देखकर विस्मय से भर जाते हैं।

राहुल गांधी ने अपने पत्र में छात्रों के मुख्य सरोकारों की भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि उच्च शिक्षा शुल्क, सीमित सीटों के लिए कठिन प्रतिस्पर्धा, सूचना की कमी, शिक्षा और रोजगार के बीच का बड़ा अंतर छात्रों की मुख्य समस्या है। उन्होंने यह वादा किया कि छात्रों को वो सम्मान और सहयोग मिलेगा जिसके वे अधिकारी हैं और जिससे वे अपनी आकांक्षाएं पूरी कर सकें।

उन्होंने कहा कि इसी को ध्यान में रखते हुए हमने ‘बेहतर भारत’ अभियान शुरू किया है, ताकि छात्रों को अपनी बात रखने के लिए एक मंच मिल सके। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि छात्रों के सरोकार कांग्रेस के सरोकार हैं, छात्रों की प्राथमिकता कांग्रेस की प्राथमिकता है।

गौरतलब है कि कांग्रेस से जुड़े छात्र संगठन एनएसयूआई छात्रों के मुद्दों को राष्ट्रीय पटल पर लाने के लिए पूरे देश में बेहतर भारत अभियान चला रही है। इस अभियान के दौरान एनएसयूआई कांग्रेस अध्यक्ष के इस पत्र का सभी क्षेत्रीय भाषाओं में अनुवाद कराकर छात्रों के बीच भी वितरित करेगी।

Most Popular