राफेल पर हमलावर हुए राहुल गांधी, तस्वीर शेयर कर लिखा, चोर की दाढ़ी, ट्विटर पर पूछा- क्यों जेपीसी से बच रही सरकार

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और लोकसभा सांसद राहुल गांधी एक बार फिर राफेल सौदे को लेकर हमलावर हो गए हैं। उन्होंने अपने इंस्टाग्राम पर एक तस्वीर शेयर की लिखा, चोर की दाढ़ी...वहीं ट्विटर पर एक पोल के लिए जरिए लोगों से पूछा है कि आखिर क्यों जेपीसी से बच रही है सरकार।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

राहुल गांधी ने राफेल सौदे को लेकर एक बार फिर केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स आने के बाद कि राफेल सौदे में बड़े पैमाने पर धांधली हुई और इस सिलसिले में फ्रांस में जांच शुरु हुई है, राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर हमले तेज कर दिए हैं। उन्होंने ताजा हमले में अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक तस्वीर शेयर की है, जिसमें राफेल से निकलते धुएं में एक दाढ़ी उलझी हुई है। उन्होंने इस तस्वीर के कैप्शन में लिखा है, चोर की दाढ़ी...I

गौरतलब है कि इंस्टाग्राम पर राहुल गांधी के 1.6 मिलियन फॉलोअर हैं, और उनकी इस पोस्ट को सवा लाख से ज्यादा लोगों ने लाइक किया है और करीब पांच हजार ने शेयर करते हुए कमेंट किया है।

राहुल गांधी ने इसी दौरान ट्विटर पर एक पोल भी शुरु किया है। जिसमें उन्होंने सवाल पूछा है कि आखिर केंद्र की मोदी सरकार राफेल सौदे में संयुक्त संसदीय समिति यानी जेपीसी जांच से क्यों बच रही है। उन्होंने इसके लिए चार विकल्प दिए हैं। एक विकल्प है कि मोदी सरकार अपराधबोध से ग्रसित है, इसीलिए जांच नहीं चाहती। दूसरे विकल्प के तौर पर लिखा है कि सरकार अपने मित्रों को भी बचाना चाहती है। तीसरे विकल्प में लिखा है कि जेपीसी को राज्यसभा सीट नहीं चाहिए, और चौथे विकल्प के तौर पर ऊपर दिए सभी विकल्पो को सही बताया गया है।


खबर लिखे जाने तक इस पोल पर करीब 75 हजार वोट हो चुके थे और इसमें सर्वाधिक यानी 63 फीसदी लोगों ने सभी विकल्पों को सही माना है। दूसरे नंबर पर मित्रों को बचाने की बात को सही माना गया है।

इस बीच कांग्रेस ने प्रेस कांफ्रेस कर एक बार फिर कहा कि राफेल सौदे के भ्रष्टाचार की रिपोर्ट आए 24 घंटों से ज्यादा गुजरने के बाद भी केंद्र की मोदी सरकार की तरफ से चुप्पी है। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेडा ने कहा कि "फ्रांस ने राफेल में भ्रष्टाचार, इन्फ्लुएंस पेडलिंग, मनी लॉन्ड्रिंग, फेवरेटिज्म, इन तमाम पहलुओं पर जांच फ्रांस ने बैठा दी है। इस बात को 24 घंटे से ऊपर हो गए हैं, लेकिन पूरा देश, पूरा विश्व इंतजार कर रहा है, देख रहा है दिल्ली की ओर – चुप्पी क्यों है? सरकार की तरफ से कोई टिप्पणी, कोई जवाब कुछ नहीं।"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia