वायनाड में राहुल गांधी के कार्यालय में तोड़फोड़, SFI पर आरोप, कांग्रेस बोली- CMO में रची गई साजिश

वेणुगोपाल ने कहा, "आरएसएस की तरह माकपा गांधी को पसंद नहीं करती है और इसलिए महात्मा गांधी की तस्वीर को एसएफआई कार्यकर्ताओं ने हटा दिया।" विपक्ष के नेता वी.डी.सतीसन ने इसे मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन के कार्यालय द्वारा तैयार की गई 'गेम प्लान' करार दिया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस केरल इकाई ने आरोप लगाया है कि स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) के कार्यकर्ताओं द्वारा वायनाड से लोकसभा सदस्य राहुल गांधी के कार्यालय में तोड़फोड़ की गई और इसे माकपा के शीर्ष नेताओं की पूरी जानकारी के साथ अंजाम दिया गया। एआईसीसी महासचिव के.सी.वेणुगोपाल ने कहा कि यह शीर्ष माकपा नेतृत्व की पूरी जानकारी में हुआ, यदि नहीं, तो क्या मौके पर मौजूद जिला पुलिस का शीर्ष अधिकारी महज तमाशा बना रहेगा?

वेणुगोपाल ने कहा, "आरएसएस की तरह माकपा गांधी को पसंद नहीं करती है और इसलिए महात्मा गांधी की तस्वीर को एसएफआई कार्यकर्ताओं ने हटा दिया।" विपक्ष के नेता वी.डी.सतीसन ने इसे मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन के कार्यालय द्वारा तैयार की गई 'गेम प्लान' करार दिया, क्योंकि वे उनके और उनके परिवार के खिलाफ 'विस्फोटक खुलासे' के बाद सोने की तस्करी के मामले से लोगों का ध्यान हटाना चाहते हैं।

कांग्रेस के वरिष्ठ लोकसभा सांसद के. मुरलीधरन ने कहा कि हाल ही में स्पष्ट कारणों से सीपीआई-एम भाजपा को खुश रखना चाहती है। उन्होंने आरोप लगाया, "वायनाड में एसएफआई के पास इसका कोई कारण नहीं है, लेकिन उन्हें माकपा के शीर्ष नेताओं ने ऐसा करने के लिए मजबूर किया, क्योंकि वे दिल्ली में भाजपा को खुश रखना चाहते हैं।"

उधर, मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन और उनकी पार्टी के अन्य शीर्ष नेताओं ने शुक्रवार देर रात एसएफआई हमले की निंदा की। वायनाड के पुलिस उपाधीक्षक को निलंबित कर दिया गया और तोड़फोड़ के आरोप में 19 एसएफआई कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 25 Jun 2022, 11:53 AM
;