राज ठाकने ने उड़ाईं सरकारी दावों की धज्जियां, कहा-देश को मोदी-शाह से मुक्त कराना होगा

एमएनएस प्रमुख राज ठाकरे ने मोदी सरकार के सारे दावों की धज्जियां उड़ाई हैं। मुंबई में शनिवार को हुई एक जनसभा में उन्होंने कहा कि देश को मोदी-शाह से मुक्त कराना होगा। राज ठाकरे ने कई वीडियो दिखाकर मोदी सरकार के झूठ को लोगों के सामने रखा।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

यह आपकी सरकार है? एक ऐसी सरकार जो लोगों को हर समय मूर्ख बनाती रहती है? यह आपके प्रधानमंत्री हैं, जो झूठ बोलते रहते हैं?

यह राज ठाकरे के शब्द हैं, जिनमें गुस्सा है, आक्रोश है और केंद्र की मोदी सरकार के लिए धिक्कार है।

मुंबई में हुई एक जनसभा में एमएनएस प्रमुख राज ठाकरे ने मोदी सरकार पर करारे प्रहार किए। उन्होंने कहा, “मैंने 4 साल पहले चेताया था कि मोदी चुनाव जीतने के लिए युद्ध जैसे हालात पैदा कर देंगे।” उन्होंने लोगों से मोदी सरकार को उखाड़ फेंकने का आव्हान करते हुए मोदी-अमित शाह की जोड़ी को खतरनाक युगल करार दिया।

राज ठाकरे ने पूछा पुलवामा में आत्मघाती हमले के लिए इतनी भारी मात्रा में आरडीएक्स पहुंच जाना किसकी नाकामी है? उन्होंने कहा, “आखिर आरडीएक्स पुलवामा पहुंचा कैसे और आखिर बालाकोट पर हवाई हमला करना क्यों ज़रूरी था?”

उन्होंने मोदी का मजाक उड़ाते हुए कहा, “वह इतना बोलते रहते हैं, लेकिन जवाब किसी सवाल का नहीं देते। वह झूठ बोलते हैं, लेकिन पुलवामा, आरडीएक्स और बालाकोट पर चुप रहते हैं। नोटबंदी क्यों हुई, कोई जवाब नहीं मिलता।”

राज ठाकरे के शनिवार को दिए इस भाषण से पूरे महाराष्ट्र में राजनीतिक उथल-पुथल मच गई है। एमएनएस ने मराठी में दिए इस भाषण पर अंग्रेजी सबटाइटिल लगाकर पूरा वीडियो जारी किया है, जिसके बाद अब इसकी गूंज महाराष्ट्र के बाहर भी सुनाई देने लगी है। ठाकरे ने ऐलान किया है कि उन्हें इस बात में अब को संदेह नहीं है कि देश को बचाने के लिए मोदी-शाह को हटाना ही होगा।

राज ठाकरे ने प्रधानमंत्री के राष्ट्रवाद को नकली करार देते हुए पीएम मोदी की एक वीडियो क्लिप भी चलाई, जिसमें मोदी कश्मीरियों से कहते हुए दिख रहे हैं उनकी सरकार ने पहली बार कश्मीरियों और आम नागरिकों पर गोली चलाने के लिए सैनिकों को सज़ा दी है। उन्होंने कहा कि पहली बार भारतीय सेना ने बाकायदा प्रेस कांफ्रेंस कर कश्मीरियों से माफी मांगी।

ठाकरे ने कहा, “खुद सुन लो, वह कश्मीरियों से कह रहे हैं कि उन्हें इंसाफ मिलेगा, सुनो उन्हें अब सुनो....”

मोदी पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए ठाकरे ने एक और वीडियो क्लिप दिखाया। इस क्लिप में विदर्भ के हरिसल गांव की कथित तौर पर डिजिटल बनने की जांच की गई है। महाराष्ट्र नव निर्माण सेना प्रमुख ने कहा कि, “प्रधानमंत्री ने लाल किले से दावा किया था कि हरिसल गांव देश का पहला डिजिटल गांव बन गया है। मुझे भी उत्सुकता हुई, मैंने अपने लोगों से कहा कि जरा जांच करो। और यह देखो, उन्हें वहां क्या मिला।”

एक बड़ी सी स्क्रीन पर चलाए गए इस वीडियो में गांव वाले साफ इनकार कर रहे हैं कि उन्हें मुफ्त वाई-फाई मिलता है। हकीकत यह है कि वहां कोई सिग्नल ही नहीं है, हालांकि वहां एक टॉवर जरूर लगा है। स्थानीय बैंक में एटीएम मशीन तो लगी है, लेकिन गांव वालों के पास एटीएम कार्ड नहीं है। किसी भी दुकान पर कोई कार्ड स्वाइप करने वाली मशीन नहीं है। यहां तक कि जो युवक प्रचार में दिखता है उसकी दुकान पर भी ऐसी कोई मशीन नहीं है। स्वास्थ्य केंद्र में एक कम्प्यूटर है जो बंद पड़ा है, इसके अलावा कुछेक कम्प्यूटर स्कूलों में है, जो कि इस्तेमाल नहीं होते।

इसके बाद ठाकरे ने सरकार के डिजिटल प्रचार वाले विज्ञापन को चलाकर दिखाया और लोगों से पूछा, कि इन दोनों में फर्क देख लो, दावे और हकीकत देख लो।

सभा में मौजूद लोगों को ठाकरे की इस बात पर थोड़ा आश्चर्य भी हुआ, लेकिन उन्होंने कांग्रेस-एनसीपी उम्मीदवारों को वोट देने की अपील की। ठाकरे ने कहा, “1971 में आरएसएस ने भी इंदिरा गांधी और कांग्रेस का समर्थन किया था। जबकि 1977 में कांग्रेसियों तक ने उनके खिलाफ वोट दिया था।” उन्होंने कहा कि आज हालात ऐसे हैं कि मोदी-शाह को बाहर का दरवाज़ा दिखाना होगा।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia