गांधी जयंती पर राजस्थान की कांग्रेस सरकार का बड़ा फैसला, पान मसाला पर लगाया प्रतिबंध

राजस्थान सरकार ने महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर राज्य में मैग्निशियम कार्बोनेट, निकोटिन, तंबाकू या मिनरल ऑयल युक्त पान मसाला और फ्लेवर्ड सुपारी के उत्पादन, भंडारण, वितरण और बिक्री पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

राजस्थान सरकार ने बुधवार को महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर राज्य में मैग्नीशियम कार्बोनेट, निकोटीन और तम्बाकू मिश्रित पान मसाला के साथ-साथ फ्लेवर्ड सुपारी के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया है। राज्य के चिकित्सा और स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि यह कदम खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2006 के अनुसार उठाया गया है।

राज्य के सभी खाद्य सुरक्षा कार्यालयों को ऐसे उत्पादों की बिक्री, वितरण और उत्पादन पर प्रतिबंध लगाने का निर्देश दे दिया गया है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र और बिहार के बाद राजस्थान तीसरा राज्य बन गया है, जहा ऐसे उत्पादों पर प्रतिबंध लगाया गया है।

रघु शर्मा ने कहा कि खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत ऐसे सभी उत्पादों पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। उन्होंने कहा कि ऐसी घटिया सामग्री की बिक्री को नियंत्रित कर, चोरी के माल की बिक्री पर सख्ती बरतते हुए इन पर पूरी तरह से रोक लगाने की कार्य योजना बनाई जा रही है।

इससे पहले मई में राजस्थान सरकार ने राज्य में ई-सिगरेट पर प्रतिबंध लगाया था। राजस्थान में तंबाकू से बने गुटखे पर पहले ही रोक है। कोर्ट के आदेश से लगी इस रोक के बाद पान मसाला कंपनियों ने तंबाकू और पान मसाला अलग-अलग बेचना शुरू कर दिया था। ऐसे में इस रोक का असर ज्यादा नजर नहीं आ रहा था।

लोकप्रिय
next