राजस्थान की BJP सरकार ने राज्य के हजारों युवाओं को दिया झटका! गहलोत सरकार की इस योजना को किया बंद

राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार ने साल 2021 में राजीव गांधी युवा मित्र इंटर्नशिप कार्यक्रम को शुरू किया था। योजना के तहत सरकार योग्य युवाओं का चयन कर उन्हें अलग-अलग क्षेत्रों में 6 महीने तक इंटर्नशिप करने का मौका देती थी।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

राजस्थान में सरकार बनते ही राज्य की नई बीजेपी सरकार ने युवाओं को झटका दिया है। सरकार ने 'राजीव गांधी युवा मित्र इंटर्नशिप कार्यक्रम' को बंद कर दिया है। राज्य सरकार की ओर जारी आदेश के मुताबिक, 31 दिसंबर 2023 के बाद से यह योजना पूरी तरह से बंद कर दी जाएगी। गहलोत सरकार ने इस योजना को शुरू किया था। इस योजना के बंद करने से हजारों युवा प्रभावित होंगे।

'राजीव गांधी युवा मित्र इंटर्नशिप कार्यक्रम' क्या है?

राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार ने साल 2021 में राजीव गांधी युवा मित्र इंटर्नशिप कार्यक्रम को शुरू किया था। योजना के तहत सरकार योग्य युवाओं का चयन कर उन्हें अलग-अलग क्षेत्रों में 6 महीने तक इंटर्नशिप करने का मौका देती थी। इंटर्नशिप पूरा होने के बाद युवाओं को प्रमाण पत्र भी दिया जाता था। अगर किसी उम्मीदवार का प्रदर्शन अच्छा है तो उसके इंटर्नशिप का समय बढ़ा दिया जाता था। योजना के तहत अधिकतम दो साल तक इंटर्नशिप करने का मौका मिलता था।


सरकार के फैसले पर गहलोत ने क्या कहा?

योजना बंद करने के ऐलान के बाद पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने एक्स पर पोस्ट किया, “राजीव गांधी युवा मित्र इंटर्नशिप कार्यक्रम में सरकार की योजनाओं को घर-घर तक पहुंचाने के लिए कार्य कर रहे करीब 5,000 युवाओं की सेवाएं समाप्त करना उचित नहीं है। यह युवा सरकार की योजनाओं के बारे में जागरुक हैं एवं सरकार की काफी मदद कर रहे हैं।”

गहलोत ने आगे कहा, “नई सरकार को इस योजना के नाम से परेशानी थी तो राजीव गांधी सेवा केन्द्रों की भांति नाम बदलकर अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर कर सकती थी। जबकि प्रदेशवासी जानते हैं कि पिछले कार्यकाल में बीजेपी सरकार द्वारा अस्थायी तौर पर लगाए गए पंचायत सहायकों को हमारी सरकार ने स्थायी कर उनका वेतन बढ़ाया था। ऐसी ही सकारात्मक सोच से नई सरकार को भी राजीव गांधी युवा मित्र इंटर्नशिप कार्यक्रम को जारी रखना चाहिए।”

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;