LAC विवाद पर रक्षा मंत्री का बड़ा बयान, कहा- चीन से बातचीत का अब तक नहीं निकला कोई नतीजा, यथास्थिति बरकरार

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को कहा कि एलएसी पर गतिरोध को हल करने के लिए चीन के साथ कूटनीतिक और सैन्य स्तर की वार्ता से कोई 'सार्थक समाधान' नहीं निकला है। उन्होंने कहा कि अब भी यथास्थिति बनी हुई है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

विनय कुमार

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, “भारत और चीन के बीच वार्ता जारी है, लेकिन अब तक कोई सफलता नहीं मिली है। अगले राउंड की बातचीत मिलिटरी स्तर की होगा। यह बातचीत किसी भी समय हो सकती है, लेकिन इसका कोई भी सकारात्मक नतीजा अब तक सामने नहीं आया है। यथास्थिति बरकरार है।”

रक्षा मंत्री ने कहा, “चीन अपने सीमावर्ती क्षेत्रों में बहुत से बुनियादी ढांचे का विकास कर रहा है। भारत सीमा पर लोगों के लिए और वहां सैनिकों के लिए तीव्र गति से बुनियादी ढांचा विकसित कर रहा है। हम किसी भी देश पर हमला करने के लिए बुनियादी ढांचे का विकास नहीं कर रहे हैं, यह सब हम अपने लोगों के लिए कर रहे हैं।”

रक्षा मंत्री ने आगे कहा, “अगर यथास्थिति बरकरार है तो सैनिकों की तैनाती कम कैसे की जा सकती है। तैनाती में कोई कमी नहीं की जाएगी। मुझे लगता है कि उनकी तैनाती में भी कोई कमी नहीं आएगी। हमें उम्मीद है कि बातचीत से कोई सकारात्मक नतीजा निकलेगा।”

रक्षा मंत्री ने आगे कहा कि भारत आत्म सम्मान को चोट पहुंचाने वाली कोई भी हरकते सहन नहीं करेगा। नरम होने का मतलब ये नहीं है कि कोई भी हमारे गौरव पर हमला करेगा और हम चुपचाप इसे देखेंगे। भारत अपने गौरव के साथ कोई समझौता नहीं करेगा।

बता दें कि भारत और चीन के बीच करीब अप्रैल से ही लद्दाख सीमा पर तनाव बरकरार है। दोनों ही देशों की सेना बड़ी संख्या में सीमा पर मुस्तैद हैं, अबतक दोनों देशों की सेना कई राउंड की बात कर चुकी है लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय