सभी चुनावी राज्यों में 22 जनवरी तक रैलियों, रोड शो पर रोक, 50% क्षमता के साथ इनडोर बैठक की इजाजत

चुनाव आयोग ने 22 जनवरी तक पाबंदी बढ़ाई है। इस दौरान राजनीतिक दल इनडोर सभागार में आधी क्षमता या अधिकतम 300 लोगों की उपस्थिति के साथ सभा कर सकेंगे।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों में होने वाले चुनाव के बीच देश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामलों को देखते हुए चुनाव आयोग ने बड़ा फैसला लिया है। चुनाव आयोग ने इन सभी पांचों चुनावी राज्यों में चुनावी रैलियों, सभाओं, रोड शो पर 15 जनवरी तक रोक के आदेश को बढ़ा दिया है। अब यह पाबंदी 22 जनवरी तक रहेगी।

हालांकि चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों को बड़ी राहत देते हुए अधिकतम 300 व्यक्तियों या हॉल की क्षमता के 50% उपस्थिति के साथ इनडोर सभागार में सभाएं करने की अनुमति दे दी है। चुनाव आयोग 22 जनवरी को फिर से स्थिति की समीक्षा करेगा और आगे का फैसला लेगा। तब तक राजनीतिक दलों डिजिटल प्रचार करना होगा। बता दें कि 10 फरवरी को पहले चरण का मतदान होना है।


इससे पहले आयोग ने 15 जनवरी तक रैलियों, रोड शो पर रोक लगाई थी। चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों को कोविड गाइडलाइन का पालन करने के लिए फिर से आगाह किया है। आयोग ने अधिकारियों को कोविड प्रोटोकॉल के मद्देनजर सभी राजनीतिक दलों की गतिविधियों पर पैनी निगाह रखने की ताकीद की है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia