'अजान' और 'हनुमान चालीसा' विवाद के बीच रमजान का आखिरी जुमा आज, देशभर में कड़ी की गई सुरक्षा व्यवस्था

देशभर में 'अजान' और 'हनुमान चालीसा' के को लेकर चल रहे विवाद को देखते हुए लखनऊ के पुराने शहर के इलाके में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। मस्जिदों, दोनों बड़ी और छोटी, सभी को 'अलविदा नमाज' के लिए सजाया गया है और मस्जिदों के आसपास के इलाकों को साफ कर दिया गया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

'अजान' और 'हनुमान चालीसा' विवाद के बीच रमजान का अलविदा जुमा है। रमजान के पवित्र महीने के आखिरी शुक्रवार को दी जाने वाली 'अलविदा नमाज' को लेकर देश के अलग-अलग हिस्सों में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। वहीं, उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी कड़ी सुरक्षा व्यवस्था है। करीब दो साल के अंतराल के बाद मस्जिदों में नमाज अदा की जाएगी। कोविड -19 महामारी के दौरान, केवल पांच व्यक्तियों को एक समूह में नमाज अदा करने की अनुमति थी।

इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया के प्रमुख और ऐशबाग ईदगाह के इमाम मौलाना खालिद राशिद फरंगी महली ने लोगों से शांति बनाए रखने और निर्धारित कोविड -19 प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील की है।

देशभर में 'अजान' और 'हनुमान चालीसा' के गायन को लेकर चल रहे विवाद को देखते हुए लखनऊ के पुराने शहर के इलाके में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। मस्जिदों, दोनों बड़ी और छोटी, सभी को 'अलविदा नमाज' के लिए सजाया गया है और मस्जिदों के आसपास के इलाकों को साफ कर दिया गया है।

लोगों को चिलचिलाती धूप से बचाने के लिए टेंट लगाए गए हैं। कई हिंदू संगठनों ने उपवास नहीं रखने वालों को 'शरबत' और पानी पिलाने के लिए स्टाल लगाए हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia