सरकार की सफाई पर कांग्रेस का पलटवार, पूछा, मोदी सरकार के 49 महीने में क्या सफेद हो गया काला धन?

कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि केंद्र के दो मंत्री स्विस बैंक खाताधारकों का बचाव करते हुए कहते हैं कि वहां जमा धन गैरकानूनी नहीं हैं, जबकि सीबीडीटी का कहना है कि सितंबर, 2019 से पहले स्विस बैंक के खातों के बारे में कोई सूचना उपलब्ध नहीं होगी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

स्विस बैंक में पिछले एक साल में भरतीयों का धन 50 फीसदी बढ़ने पर मोदी सरकार द्वारा सफाई दिए जाने के बाद कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, “मई, 2014 से पहले स्विस बैंक में जमा धन ‘काला’ था। मोदी सरकार के 49 महीनों में यह ‘सफेद’ हो गया है।” सुरजेवाला ने इस मुद्दे पर अरुण जेटली और पीयूष गोयल द्वारा दिए गए बयानों का जिक्र करते हुए कहा, “दो वित्त मंत्री(?) स्विस बैंक खाताधारकों का बचाव करते हुए कहते हैं कि यह ‘गैरकानूनी’ नहीं हैं, जबकि सीबीडीटी का कहना है कि सितंबर, 2019 से पहले स्विस बैंक के खातों के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं होगी।”

इससे पहले शुक्रवार, 29 जून को इस मामले में केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने सफाई दी थी। उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट पर लिखा था कि स्व‍िस बैंक में भारतीयों का जो पैसा है, उसमें अधिकतर पैसा उन भारतीयों का है, जो अब विदेशों में बस गए हैं। इस तरह से यह पूरा पैसा कालाधन नहीं है। जेटली ने कहा था कि इस आंकड़े को बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया जा रहा है।

जेटली से पहले केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा था, “स्विट्जरलैंड सरकार स्विस बैंकों में 1 जनवरी, 2018 से 31 दिसंबर, 2018 तक भारतीयों द्वारा जमा रकम की जानकारी अगले साल जनवरी महीने से देना शुरू करेगी। सभी आंकड़े के सामने आने के बाद ही यह तय किया जा सकेगा कि स्विस बैंक में जमा भारतीयों का कितना पैसा काला धन है।”

स्विस बैंक द्वारा जारी ताजा आंकड़ों में कहा गया है कि पिछले एक साल में वहां जमा भारतीयों की पूंजी में करीब 50 फीसदी का इजाफा हुआ है। स्विस बैंकों में जमा भारतीयों का पैसा 4 साल में पहली बार बढ़कर पिछले साल 1 अरब स्विस फ्रैंक यानी 7 हजार करोड़ रुपये हो गया। यह आंकड़ा सामने आने के बाद मोदी सरकार बैकफुट पर है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 30 Jun 2018, 3:16 PM
/* */