मुख्य समाचार

उर्जित पटेल ने की खुद की भगवान शिव से तुलना, कहा बैंकों का फ्रॉड रोकने के लिए कर लेंगे नीलकंठ की तरह विषपान

रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल

रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल ने खुद  की तुलना भगवान शंकर से करते हुए कहा है कि बैंकों में जारी धोखाधड़ी करने के लिए उन्हें नीलकंठ की तरह विषपान भी करना पड़े तो वे संकोच नहीं करेंगे।

भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल ने बैंकों की धोखाधड़ी पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए बुधवार को कहा कि केंद्रीय बैंक कोरोबारियों और सरकारी बैंकों की नापाक मिलीभगत को तोड़ने के लिए भरसक कोशिश करेगा। पटेल ने देश की दूसरी सबसे बड़ी सरकारी बैंक माने जाने वाले पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में समाने आए 13,540 करोड़ रुपये के फर्जीवाड़े के संबंध में यह बात कही।

गुजरात की नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में एक लेक्चर देते हुए पटेल ने कहा, "मैं आज यह बताने जा रहा हूं कि आरबीआई में हमें भी बैंकिंग क्षेत्र की धोखाधड़ी व अनियिमितताओं को लेकर गुस्सा आता है और हम आहत व दर्द महसूस करते हैं। अंग्रेजी के सरल शब्दों में कहा जाए तो यह कुछ कारोबारी और बैंकों की मिलीभगत से देश के भविष्य को लूटने का काम है।"

उन्होंने कहा, "बैंकों में आपकी जमा राशि की सुरक्षा के लिए 2015 में आरबीआई की ओर से घोषित बैंकों की परिसंपत्ति गुणवत्ता समीक्षा हमारे पर्यवेक्षक दल की ओर से सक्षमता पूर्वक की जा रही है और हम नापाक सांठगांठ को तोड़ने के लिए पूरी कोशिश कर रहे हैं।"

उन्होंने कहा, "अगर हमें इन बाधक तत्वों का सामना करने की जरूरत पड़ेगी और नीलकंठ की तरह विषपान भी करना पड़ेगा तो हम अपने कर्तव्य के पालन में वैसा भी करेंगे।"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

सबसे लोकप्रिय

अखबार सब्सक्राइब करें