दिल्ली-NCR में आफत की बारिश! मूसलाधार बरसात से कई सड़कें बनी 'तालाब', ट्रैफिक ने रुलाया

दिल्ली के साथ-साथ एनसीआर के कई जगहों पर जलजमाव के कारण वाहनों की आवाजाही धीमी रही। दिल्ली में पिछले 24 घंटे की बारिश ने मानसून के इस सीजन की बारिश के सारे रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में शनिवार सुबह भारी बारिश होने के कारण तापमान में कमी दर्ज की गई, लेकिन कई जगहों पर जलजमाव होने से लोगों को परेशानी हुई। दिल्ली के साथ-साथ एनसीआर के कई जगहों पर जलजमाव के कारण वाहनों की आवाजाही धीमी रही। दिल्ली में पिछले 24 घंटे की बारिश ने मानसून के इस सीजन की बारिश के सारे रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए हैं।

भारतीय मौसम विभाग का कहना है कि सफदरजंग आर्ब्जवेटरी में पिछले 24 घंटे (सुबह 8.30 बजे तक) में 138.8 मिलीमीटर बारिश हुई है.यह सीजन में दिल्ली में किसी भी एक दिन हुई सबसे ज्यादा बरसात है।हालांकि आईटीओ-प्रगति मैदान समेत कई रास्तों पर कई फीट पानी भरे होने के कारण लोग ट्रैफिक में फंस गए और वाहनों को खींचते नजर आए।

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने ट्वीट किया, "जलभराव के कारण मिंटो ब्रिज (दोनों कैरिजवे) पर यातायात बंद कर दिया गया है।" उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, "धौला कुआं से गुड़गांव तक का रास्ता जीजीआर-पीडीआर पर जलजमाव के कारण काफी व्यस्त है। यातायात 1 लेन में चल रहा है। असुविधा के लिए खेद है।" दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट पर पुल प्रह्लादपुर अंडरपास पर जलभराव की जानकारी भी दी। उन्होंने कहा, "एमबी रोड पर बाधित यातायात मथुरा रोड पर डायवर्ट किया गया है।"

उन्होंने ट्वीट किया, "जलभराव के कारण मूलचंद अंडरपास पर यातायात प्रभावित है। असुविधा के लिए खेद है। आजाद मार्केट अंडरपास 1.5 फीट जलभराव के कारण बंद है, कृपया इस मार्ग का उपयोग करने से बचें। असुविधा के लिए खेद है।" इस बीच, भारत मौसम विज्ञान विभाग ने ट्वीट किया, "दिल्ली में पिछले 24 घंटों में सुबह 8.30 बजे तक सफदरजंग में 138.8, लोदी रोड में 149.0, रिज में 149.2, पालम में 84.0 और आया नगर में 68.2 मिमी बारिश हुई।"

दिल्ली-एनसीआर में कई दिनों बाद मानसून ने वापसी की है। हाल ही में मौसम विभाग ने लोगों को गर्मी से जल्द राहत मिलने की संभावना जताई थी। मौसम विभाग के मुताबिक अगले कुछ दिनों तक दिल्ली-एनसीआर में ऐसा ही मौसम बना रहेगा।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia