हरियाणा: रेवाड़ी गैंगरेप पीड़िता की हालत स्थिर, एसपी ने कहा, मुख्य आरोपी की हुई पहचान, जल्द होगी गिरफ्तारी

रेवाड़ी गैंगरेप मामले में एसपी ने कहा मुख्य आरोपी की हुई पहचान, जल्द होगी गिरफ्तारी

हरियाणा के रेवाड़ी में सीबीएसई टॉपर और राष्ट्रपति से सम्मानित छात्रा के साथ गैंगरेप मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन हुआ है। इसी के साथ हरियाणा के नूह जिले की एसपी नाजनीन भसीन को 19 साल की टॉपर छात्रा के साथ दुष्कर्म की जांच सौंप दी गई है।

हरियाणा के रेवाड़ी में सीबीआई टॉपर के साथ गैंगरेप मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन हुआ है। इसी के साथ नूह जिले की एसपी नाजनीन भसीन को टॉपर छात्रा के साथ गैंगरेप की जांच सौंप दी गई है। वहीं 3 आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी है। इस दौरान एसपी ने पीड़िता से मुलाकात भी की।

उन्होंने कहा, “पीड़िता की हालत स्थिर है। मुख्य आरोपी की पहचान की जा चुकी है। हम मामले की हर एंगल से जांच करेंगे।”

इस पूरे मामले की गंभीरता को देखते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग ने हरियाणा के डीजीपी को पत्र लिखकर रेवाड़ी गैंगरेप की अपडेट मांगी हैं।

हरियाणा के डीजीपी बीएस संधू ने इस मामले में चौंकाने वाला खुलासा किया है। उन्होंने कहा कि मुख्य आरोपी डेफेंस में अफसर है और इन दिनों राजस्थान में तैनात है। हमारे पास उसके खिलाफ अरेस्ट वारंट हैं। अन्य दो आरोपी भी जल्दी ही गिरफ्त में होंगे।

रेवाड़ी जिला अस्पताल में भर्ती पीड़िता की स्थिति पर मेडिकल सुपरिंटेंडेंट सुदर्शन पंवर ने कहा, “पीड़िता की हालत स्थिर है और वह ट्रामा से धीरे-धीरे उबर रही है। उसका एक्स-रे और अल्ट्रासाउंड कराया जा चुका है रिपोर्ट नॉर्मल है। हम लगातार उसकी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।”

वहीं इस मामले में पीड़िता की मां ने कहा है कि सरकार बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ की बात करती है, लेकिन हमारी लड़कियों को शिक्षा ग्रहण करने के लिए क्या यह कीमत चुकानी पड़ेगी? आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं, लेकिन पुलिस उन्हें पकड़ने में नाकाम रही है। पीड़िता की मां ने कहा कि पुलिस कोई भी कार्रवाई करने में विफल रही है। हमें शिकायत दर्ज कराने के लिए इधर-उधर भटकना पड़ा।

इसे भी पढ़ें: हरियाणा: राष्ट्रपति से सम्मानित छात्रा से गैंगरेप, मां ने पीएम मोदी से पूछा, बेटी को कैसे बचाएं, कैसे पढ़ाएं?

शुक्रवार देर शाम एडीजीपी श्रीकांत जाघव ने एक एसआईटी की टीम का गठन किया है। इस टीम का नेतृत्व नूंह की पुलिस अधीक्षक नाजनीन भसीन कर रही हैं। वहीं डीएसपी अनिल कुमार, महेंद्रगढ़ के डीएसपी सतेंद्र, महिला इंस्पेक्टर सरोज बाला, नूंह से इंस्पेक्टर अनिल, नूंह के डीआई सोहन लाल और उषा रानी टीम के हिस्सा हैं।

बता दें कि युवती के साथ गैंगरेप बुधवार को हुआ था जब कोचिंग सेंटर से घर लौट रही थी। उसी समय बस अड्डे से पंकज, मनीष और उसके दोस्त ने ने युवती को लिफ्ट देने के बहाने अगवा कर लिया। आरोपी युवती को लिफ्ट देकर उसे एक सुनसान स्थान पर ले गए जहां उसे नशीला पानी पिलाकर उसके साथ गैंगरेप किया।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

सबसे लोकप्रिय

अखबार सब्सक्राइब करें