आसमान से आफत बनकर बरस रहा पानी! चमोली में ऋषिकेश-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग मलबा आने से फिर हुआ बंद

नेशनल हाईवे पर मलबा आने से यात्रा पर निकले तीर्थयात्रियों के वाहन जहां-तहां रुक गए हैं। छिनका में नया भूस्खलन जोन बनने से प्रशासन चिंतित है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तराखंड चारधाम यात्रा के दौरान बदरीनाथ नेशनल हाईवे लैंडस्लाइड के कारण अक्सर बंद हो जा रहा है। शनिवार को फिर छिनका के पास भूस्खलन हुआ है। नेशनल हाईवे पर मलबा आने से यात्रा पर निकले तीर्थयात्रियों के वाहन जहां-तहां रुक गए हैं। छिनका में नया भूस्खलन जोन बनने से प्रशासन चिंतित है।

दरअसल, बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग-7 एक बार फिर पहाड़ी से भारी मात्रा में मलबा आने के कारण छिनका में अवरुद्ध हो गया है। छिनका में मार्ग बंद होते ही एनएचआईडीसीएल द्वारा दो मशीनों की मदद से रास्ते को खोलने का कार्य भी शुरू कर दिया गया है।

सड़क के दोनों तरफ अपने वाहनों के अंदर बदरीनाथ आने-जाने वाले तीर्थयात्री मार्ग खुलने का इंतज़ार कर रहे हैं। वहीं, दूसरी तरफ सुरक्षा के लिहाज से बदरीनाथ और हेमकुंड आने-जाने वाले तीर्थयात्रियों को बरही और चमोली में पुलिस द्वारा बैरियर लगाकर रोका गया है। ताकि, मार्ग खुलने पर जाम की स्थिति उत्पन्न न हो सके।


बीते दिन भी छिनका में बदरीनाथ हाईवे पहाड़ी से बोल्डर और मलबा आने से पूरे दिन बाधित रहा था। जिससे हज़ारों की संख्या में तीर्थयात्री हाईवे पर फंसे रहे। मार्ग खुलने तक तीर्थयात्रियों ने सड़क पर ही रात गुजारी थी। छिनका में एक नया भूस्खलन जोन विकसित होने से प्रशासन की चिंता बढ़ गई है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;