ओमिक्रॉन का जोखिम बहुत ज्यादा, स्वास्थ्य प्रणालियों को कर सकता है तबाह- WHO ने दी डराने वाली चेतावनी

डब्ल्यूएचओ के अनुसार लगातार साक्ष्य से पता चलता है कि ओमिक्रॉन डेल्टा वैरिएंट से ज्यादा संक्रामक है। यह चेतावनी ऐसे समय आई है, जब अमेरिका में नए ओमिक्रॉन के मामलों में वृद्धि हुई है और यहां दैनिक मामलों की संख्या बढ़कर 5,10,000 के उच्च स्तर पर पहुंच गई है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने चेतावनी दी है कि कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वैरिएंट से जुड़ा जोखिम 'बहुत अधिक' बना हुआ है, जो स्वास्थ्य प्रणालियों और अन्य महत्वपूर्ण सेवाओं में व्यापक व्यवधान पैदा कर सकता है। अपने साप्ताहिक महामारी विज्ञान अपडेट में डब्ल्यूएचओ ने मंगलवार को कहा कि चिंता के इस नए वैरिएंट से संबंधित जोखिम बहुत अधिक है।

डब्ल्यूएचओ अपडेट के अनुसार, "लगातार साक्ष्य से पता चलता है कि ओमिक्रॉन वेरिएंट, डेल्टा वेरिएंट से ज्यादा संक्रामक है।" विश्व स्वास्थ्य निकाय ने यह चेतावनी ऐसे समय जारी की है, जब अमेरिका में नए ओमिक्रॉन के मामलों में वृद्धि हुई है और यहां दैनिक मामलों की संख्या बढ़कर 5,10,000 के उच्च स्तर पर पहुंच गई है।


वहीं, जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, देश में महामारी की शुरुआत के बाद से यह एक दिन में सबसे अधिक वृद्धि है। नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर पब्लिक हेल्थ एंड एनवायरनमेंट (आरआईवीएम) ने घोषणा की है कि ओमिक्रॉन वैरिएंट पिछले सप्ताह में नीदरलैंड में 50 प्रतिशत से अधिक संक्रमण का कारण बना है।

जर्मनी ने कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वैरिएंट के प्रसार को धीमा करने के लिए टीकाकरण और स्वस्थ लोगों के लिए देश भर में कड़े प्रतिबंध लगाए हैं। वहीं भारत में केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने बुधवार को कहा कि पिछले 24 घंटों में भारत में कोरोना के 9,195 नए मामले सामने आए हैं। वहीं इस दौरान कुल 302 लोगों की मौत हुई है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia