उन्नाव गैंगरेप पीड़ित के परिवार ने प्रियंका गांधी को बताई आपबीती- एक साल से प्रताड़ित कर रहे थे आरोपी

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की मौत के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने पीड़िता के परिजनों से शनिवार को मुलाकात की। परिजनों ने प्रियंका गांधी को बताया कि आरोपी एक साल से उनके पूरे परिवार को प्रताड़ित कर रहे थे।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की मौत के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने पीड़िता के परिजनों से शनिवार को मुलाकात की। परिजनों ने प्रियंका गांधी को बताया कि आरोपी एक साल से उनके पूरे परिवार को प्रताड़ित कर रहे थे। प्रियंका ने दुष्कर्म पीड़िता के परिवार से 20 मिनट तक बातचीत की।

उन्होंने कहा, "उन्नाव में जिस तरह माखी की घटना और अब दुष्कर्म पीड़िता की मौत हुई है, उससे साफ है कि उन्नाव में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं।"

पीड़िता के पिता ने प्रियंका गांधी को आपबीती सुनाई और कहा कि एक साल से परिवार पर अत्याचार किया जाता रहा है। उन्होंने कहा, "मैंने यह भी सुना है कि दोषियों का बीजेपी से संबंध है। राज्य में अपराधियों में कोई डर नहीं है।"

प्रियंका ने कहा, "प्रदेश की बीजेपी सरकार में महिला उत्पीड़न की घटना बढ़ रही है। दुष्कर्म पीड़िता और उसके परिवार को बराबर धमकी मिल रही थी, लेकिन पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया।"

उन्होंने कहा, "मुख्यमंत्री इस सवाल का जवाब दें कि आखिर प्रदेश में महिलाओं का क्या स्थान है। माखी और कल जिस तरह से एक और बेटी की मौत हुई है, उसने व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं।"

कांग्रेस महासचिव ने राज्य की बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, "मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कहते हैं कि राज्य में अपराधियों की कोई जगह नहीं है, लेकिन मुझे तो लगता है कि यहां महिलाओं के लिए कोई जगह नहीं है। प्रशासन को बताना पड़ेगा कि ऐसा क्यों हो रहा है।"

उन्नाव पीड़िता की भाभी ने बताया, "प्रियंका ने कहा कि वह हमारे साथ न्याय के लिए लड़ेंगी। हमारी एकमात्र मांग है कि दोषियों को फांसी दी जाए, तभी मेरी ननद की आत्मा को शांति मिलेगी।"

आईएएनएस के इनपुट के साथ

लोकप्रिय