JNU में नॉनवेज खाने पर बवाल, ABVP पर लेफ्ट के छात्रों से मारपीट का आरोप, JNUSU ने छात्रों से एकजुट होने की अपील की

जेएनयू छात्र संघ ने कहा कि एबीवीपी के गुंडों ने अपनी नफरत की राजनीति और विभाजनकारी एजेंडे को लेकर कावेरी हॉस्टल में हिंसक माहौल बना दिया है। वे मेस कमेटी पर खाने का मेनू बदलने का दबाव डाल रहे हैं। वे मेस कमेटी और लेफ्ट विंग के छात्रों पर हमला कर रहे हैं।

फोटोः @ashoswai
फोटोः @ashoswai
user

नवजीवन डेस्क

जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी एक बार फिर सुर्खियों में है। रविवार को हॉस्टल में नॉनवेज खाने को लेकर लेफ्ट के छात्र संगठन और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के छात्रों के बीच झड़प हुई है। लेफ्ट विंग के छात्रों का आरोप है कि एबीवीपी के छात्रों ने नॉन वेज खाने को लेकर कावेरी हॉस्टल में मेस सचिव और छात्रों से मारपीट की है। वहीं एबीवीपी के छात्रों का आरोप है कि लेफ्ट विंग के छात्र कावेरी हॉस्टल में रामनवमी पूजा करने से छात्रों को रोक रहे थे। इस मामले को लेकर जेएनयू कैंपस में एक बार फिर बवाल बढ़ता दिख रहा है।

जेएनयू में रविवार शाम को हुई झड़प को लेकर वामपंथी छात्रों ने आरोप लगाया कि एबीवीपी के छात्र हॉस्टल में नॉन वेज फूड खाने से रोक रहे हैं। लेफ्ट विंग के छात्रों ने आरोप लगाया कि एबीवीपी के छात्रों ने कावेरी हॉस्टल के मेस सचिव और अन्य छात्रों के साथ मारपीट की है। इसके बाद रविवार देर शाम एक बार फिर लेफ्ट और एबीवीपी छात्रों के बीच झड़प हो गई। इस झड़प में कुछ छात्र घायल हुए हैं। जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष ने कहा कि जेएनयू में हिंसक झड़प हुई है, जिसमें कुछ छात्र घायल हुए हैं। लेफ्ट विंग के छात्रों ने एबीवीपी पर जेएनयू परिसर में गुंडागर्दी का आरोप लगाते हुए छात्रों से एकजुट होने का आह्वान किया है।


वहीं, एबीवीपी का आरोप है कि लेफ्ट विंग के छात्र कावेरी हॉस्टल में रामनवमी की पूजा नहीं करने दे रहे हैं। एबीवीपी की जनरल सेक्रेटरी निधि त्रिपाठी ने एक ट्वीट कर कहा कि कावेरी छात्रावास में मेस के अंदर एक ओर इफ्तार पार्टी हो रही है और दूसरी तरफ बाहर राम जन्मोत्सव पर हवन, पर हमेशा समाज को तोड़ने वाले वामपंथियों से ये देखा नहीं जा रहा है और हमेशा की तरह आज भी झूठ का सहारा लेकर राम कार्य में विघ्न ड़ाल रहे हैं।

वहीं जेएनयू स्टूडेंट यूनियन ने कहा कि एबीवीपी के गुंडों ने अपनी नफरत की राजनीति और विभाजनकारी एजेंडे को लेकर कावेरी हॉस्टल में हिंसक माहौल बना दिया है। वे मेस कमेटी को रात के खाने के मेनू को बदलने के लिए मजबूर कर रहे हैं और मेस कमेटी के साथ लेफ्ट विंग के छात्रों पर हमला कर रहे हैं। मेनू में शाकाहारी और मांसाहारी दोनों तरह के खाने हैं। छात्र अपनी पसंद के मुताबिक कोई भी खाना ले सकते हैं। लेकिन एबीवीपी के लोगों ने मेस कर्मचारियों के साथ मारपीट की है। एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने मेस कर्मचारियों से नॉनवेज फूड नहीं बनाने का दबाव डाला है।


जेएनयूएसयू ने कहा कि जेएनयू और उसके हॉस्टल सभी के लिए एक जैसे हैं। यहां रह रहे छात्र अलग-अलग इलाकों से होते हैं और उनकी संस्कृति, खान-पान भी अलग-अलग है, जिनका सम्मान किया जाना चाहिए। छात्र संघ ने आरोप लगाया गया कि एबीवीपी का यह कदम जेएनयू जैसे लोकतांत्रिक और धर्मनिरपेक्ष स्थानों पर आधिपत्य जमाने की उनकी दक्षिणपंथी हिंदुत्व नीतियों को दर्शाता है। जेएनयू के छात्र इस तरह की विभाजनकारी चालों के आगे नहीं झुकेंगे और लड़ना जारी रखेंगे। जेएनयू स्टूडेंट यूनियन ने छात्रों से सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ एकजुट होने की अपील की है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia