नूपुर-नवीन के बयान पर घमासान! जुमे की नमाज के बाद दिल्ली से लेकर UP तक मस्जिदों के बाहर प्रदर्शन, गिरफ्तारी की मांग

जुमे की नमाज के बाद देश भर के अधिकांश मस्जिदों के बाहर विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। मस्जिद में हजारों की संख्या में लोग इकट्ठा हुए और नुपुर शर्मा, नवीन जिंदल की गिरफ्तारी की मांग की। प्रदर्शनकारियों ने हाथों में पोस्टर और बैनर लेकर विरोध जताया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पैगंबर मोहम्मद साहब के खिलाफ बीजेपी नेता नुपुर शर्मा औऱ नवीन जिंदल के आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर मुस्लिम समुदाय में गुस्सा है। अब ये गुस्सा एक बार फिर सड़कों पर साफ देखा जा सकता है। जुमे की नमाज के बाद देश भर के अधिकांश मस्जिदों के बाहर विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। बात राजधानी दिल्ली की करें तो दिल्ली की जामा मस्जिद में जुमे की नमाज के बाद भारतीय जनता पार्टी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल के खिलाफ लोगों ने प्रदर्शन किया है। मस्जिद में हजारों की संख्या में लोग इकट्ठा हुए और नुपुर शर्मा-नवीन जिंदल की गिरफ्तारी की मांग की। प्रदर्शनकारियों ने हाथों में पोस्टर और बैनर लेकर विरोध जताया। बीते दिनों पैगंबर मोहम्मद पर उनके विवादास्पद बयान के बाद से ही यह बवाल बढ़ता ही जा रहा है। देश विदेश में इस बयान की निंदा की गई, इसी के चलते बीजेपी ने उनके खिलाफ कार्रवाई भी की थी।

वहीं पैगम्बर मोहम्मद पर विवादित बयानों को लेकर जुमे की नमाज पर जनपद में आज सुबह ही हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया था। इंटरनेट मीडिया पर भारत बंद की अफवाह फैलाने वालों पर सीधे मुकदमे के आदेश दिए गए है। जनपद में जोन और सेक्टर व्यवस्था लागू कर पीएसी और आरएएफ भी लगा दी गई है। अतिसंवेदनशील क्षेत्रों में मकानों की छतों की ड्रोन से निगरानी की जा रही है। ताकि पता चल सकें कि मकानों की छतों पर पत्थर तो नहीं रखे गए है।

जुमे की नमाज के बाद यूपी के लखनऊ, प्रयागराज सहारनपुर और देवबंद में नूपुर शर्मा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हुआ। इस दौरान जमकर नारेबाजी भी हुई। देवबंद में पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में भी ले लिया है। पुलिस को लोगों को नियंत्रित करने के लिए भारी मशक्कत करनी पड़ी। उधर, उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में गुरुवार को ही मुस्लिम समुदाय की आक्रोशित महिलाओं ने हाजीपुरा से नालबंद तक तख्तियां लेकर जुलूस निकाल कर प्रदर्शन किया। फिरोजाबाद में आधा दर्जन से अधिक मुस्लिम धर्मगुरुओं ने पुलिस कार्यालय पर एसएसपी आशीष तिवारी को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा। उन्होंने नुपूर के बयान को आपत्तिजनक और भड़काऊ बताते हुए गिरफ्तारी कराने की मांग की।

बता दें कि, बीजेपी की प्रवक्ता नूपुर शर्मा ने एक टीवी डिबेट में पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी की थी। जिसके बाद विवाद काफी बढ़ गया। विदेश में भी इस विवादित टिप्पणी को लेकर मोदी सरकार की आलोचना हुई। जिसके बाद बीजेपी ने नूपुर शर्मा पार्टी से निलंबित कर दिया। विवाद बढ़ने के बाद नूपुर शर्मा ने भी माफी मांगी थी और कहा था कि, मैं अपने शब्द वापस लेती हूं। उन्होंने कहा कि मेरी मंशा किसी को ठेस पहुंचाने की नहीं थी, अगर मेरे शब्दों से किसी की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची है तो मैं अपने शब्द वापस लेती हूं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia