उज्जैन में पटेल और अंबेडकर की मूर्ति को लेकर बवाल, दो पक्षों में भड़की हिंसा, गाड़ियों में तोड़फोड़ और आगजनी

एक खाली जमीन पर भीम आर्मी अंबेडकर की मूर्ति लगाना चाहती थी तो वहीं पाटीदार समाज सरदार पटेल की मूर्ति लगाने की मांग कर रहा था। मामला पंचायत में विचाराधीन है। बुधवार की रात कुछ लोगों ने उस जमीन पर सरदार पटेल की मूर्ति स्थापित कर दी, जिस पर बवाल हो गया।

उज्जैन में पटेल और अंबेडकर की मूर्ति को लेकर बवाल, दो पक्षों में भड़की हिंसा
उज्जैन में पटेल और अंबेडकर की मूर्ति को लेकर बवाल, दो पक्षों में भड़की हिंसा
user

नवजीवन डेस्क

मध्य प्रदेश की धार्मिक नगरी उज्जैन के माकड़ोन में सरदार पटेल और अंबेडकर की मूर्ति स्थापित करने को लेकर हुए विवाद में बुधवार रात दो पक्षों में जमकर हिंसा हुई है। एक पक्ष द्वारा ट्रैक्टर से पटेल की मूर्ति गिराने और लाठी-डंडों से तोड़फोड़ करने पर हिंसा भड़क उठी, जिसके बाद उग्र लोगों ने पथराव किया और कुछ गाड़ियों में तोड़फोड़ करने के साथ आगजनी भी की। 

मिली जानकारी के अनुसार माकड़ोन मंडी गेट और बस स्टैंड के पास एक खाली जमीन पर दो पक्ष अलग-अलग मूर्तियां स्थापित करना चाहते थे। भीम आर्मी डॉक्टर अंबेडकर की मूर्ति स्थापित करना चाहती थी तो वहीं पाटीदार समाज सरदार पटेल की मूर्ति स्थापित करने की मांग कर रहा था। यह मामला पंचायत में विचाराधीन है। बताया गया कि बुधवार की रात कुछ असामाजिक तत्वों ने खाली पड़ी जमीन पर सरदार पटेल की मूर्ति स्थापित कर दी।


जैसे ही दूसरे पक्ष के लोगों को मूर्ति स्थापना की बात पता चली तो उन्होंने ट्रैक्टर से टक्कर मारकर मूर्ति गिरा दी। इतना ही नहीं लाठी-डंडों से मूर्ति में तोड़फोड़ की। इस बात पर दोनों ही पक्षों के लोग आमने-सामने हो गए। जिसके बाद पथराव शुरू हो गया और देखते ही देखते उग्र भीड़ ने गाड़ियों में तोड़फोड़ शुरू कर दी और कुछ वाहनों में आग तक लगा दी गई।

बढ़ते तनाव और लोगों के उग्र रवैये को देखते हुए उज्जैन और तराना से भारी तादाद में पुलिस बल को मौके पर बुलाया गया। पुलिस ने उग्र भीड़ को काबू में लाने के लिए हल्का बल प्रयोग भी किया। उज्जैन के कलेक्टर नीरज सिंह के मुताबिक इस मामले में पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में लिया है। एक बाइक को जलाने का वीडियो भी सामने आया है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नितेश भार्गव के अनुसार हालात पूरी तरह नियंत्रण में है। पुलिस अपनी ओर से कार्रवाई कर रही है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;