कृष्ण भगवान की तलाश में अवैध रूप से रुसी व्यक्ति ने भारत में किया प्रवेश, SSB ने किया गिरफ्तार

गिरफ्तार रूसी नागरिक की पहचान एनेक्सांद्रोव पावेल के रूप में हुई है और पूछताछ के दौरान उसने बताया कि वह भगवान श्रीकृष्ण की खोज में अवैध रूप से भारत में प्रवेश करने की कोशिश कर रहा था। उसने कबूल किया कि नवंबर में भी वह नेपाल के रास्ते भारत में घुसा था।

कृष्ण भगवान की तलाश में अवैध रूप से रुसी व्यक्ति ने भारत में किया प्रवेश
कृष्ण भगवान की तलाश में अवैध रूप से रुसी व्यक्ति ने भारत में किया प्रवेश
user

नवजीवन डेस्क

पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी के पास खारीबारी इलाके में सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) के जवानों ने सोमवार सुबह एक रूसी नागरिक को उस समय गिरफ्तार कर लिया, जब वह भगवान श्रीकृष्ण की तलाश में भारत-नेपाल सीमा के जरिये अवैध रूप से भारत में प्रवेश करने की कोशिश कर रहा था।

एसएसबी जवानों ने व्यक्ति को उस समय पकड़ लिया, जब वह सीमा चौकी स्तंभ के पास घुसपैठ करने की कोशिश कर रहा था और उससे पूछताछ शुरू कर दी। रूसी नागरिक के पास भारत आने के लिए कोई वैध दस्तावेज नहीं था, इसलिए एसएसबी जवानों ने उसे स्थानीय खोरीबारी पुलिस को सौंप दिया।


गिरफ्तार रूसी नागरिक की पहचान एनेक्सांद्रोव पावेल के रूप में की गई है और पूछताछ के दौरान उसने बताया कि वह भगवान श्रीकृष्ण की खोज में अवैध रूप से भारत में प्रवेश करने की कोशिश कर रहा था। उसने कबूल किया कि नवंबर में भी वह नेपाल के रास्ते भारत में दाखिल हुआ था और पश्चिम बंगाल के एक कृष्ण मंदिर में समय बिताया था। उस समय, वह अपने देश वापस जाने के बजाय नेपाल लौट गया और वहां एक बुद्ध मंदिर में अपने एक स्थानीय मित्र के साथ रहना लगा।

भगवान कृष्ण के प्रति उसकी खोज और प्रेम ने उसे फिर से सीमा पार करने के लिए प्रेरित किया। दार्जिलिंग जिले के पुलिस अधिकारियों ने कहा कि इस बात की पुष्टि करने के लिए जांच की जा रही है कि क्या वह सच बोल रहा है या उसके भारत में प्रवेश करने का कोई दूसरा मकसद भी था। उसके भारतीय संबंधों के बारे में भी जांच चल रही है और पश्चिम बंगाल में मंदिर अधिकारियों से भी संपर्क किया जा रहा है, जहां उसने नवंबर में समय बिताने का दावा किया था।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;