सहारनपुरः हिन्दू संगठन के जबरन मुगल रेस्टोरेंट बंद कराने पर बवाल, कड़ी मशक्कत के बाद प्रशासन ने हालात संभाला

सहारनपुर के एसपी सिटी राजेश कुमार के मुताबिक यह स्थिति हिन्दू संगठनों से जुड़े कुछ युवकों के अति उत्साह से पैदा हुई जो नवरात्र में खुल रहे नॉनवेज रेस्टोरेंट को बंद करवाने पहुंच गए थे। फिलहाल मौके पर पुलिस तैनात की गई है और शांति है।

फोटोः आस मोहम्मद कैफ
फोटोः आस मोहम्मद कैफ
user

आस मोहम्मद कैफ

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में शुक्रवार की रात हिन्दू संगठनों द्वारा बेहट रोड स्थित मुगल रेस्टोरेंट को बंद कराने की कोशिश के बीच बवाल हो गया और दोनों पक्षों में टकराव की स्थिति बन गई। हालात इतने बिगड़ गए कि मारपीट होने लगी और एक पक्ष ने सड़क पर जाम भी लगा दिया। कई घंटे के हंगामे के बाद कांग्रेस नेता जावेद साबरी और पुलिस अधिकारियों के प्रयास से शांति कायम हो पाई। सहारनपुर के एसपी सिटी राजेश कुमार के मुताबिक यह स्थिति हिन्दू संगठनों से जुड़े कुछ युवकों के अति उत्साह से पैदा हुई जो नवरात्र में खुल रहे नॉनवेज रेस्टोरेंट को बंद करवाने पहुंच गए थे। फिलहाल मौके पर पुलिस तैनात की गई है और शांति है।

घटना शुक्रवार देर शाम 8 बजे की है। मुगल रेस्टोरेंट के मालिक मोहम्मद आदिल ने बताया कि "देर शाम स्थानीय हिन्दू संगठनों से जुड़े करीब 50-60 लोग उनके रेस्टोरेंट पर पहुंचे और रेस्टोरेंट बंद करने के लिए कहने लगें। उनका कहना था कि नवरात्र में नॉनवेज रेस्टोरेंट खुले होने के कारण इनकी धार्मिक भावना आहत हो रही है। इस पर हमने कहा कि हमारे पास प्रशासन की तरफ से ऐसा कोई आदेश नही आया है। अगर प्रशासन इस संबंध में कोई आदेश देता है तो जरूर मानेंगे मगर वो अभी इसे बंद कर देंगे तो उन्हें बहुत नुकसान हो जाएगा।”

रेस्टोरेंट मालिक ने आगे बताया कि “इसके बाद इन युवकों में से कुछ सामान उठाकर रखने लगे और नारेबाजी करने लगे। इससे कुछ ग्राहक खाना बीच मे ही छोड़कर खड़े हो गए और बाहर निकल गए। हमने इन्हें ऐसा करने के लिए मना किया तो वो बदतमीज़ी पर उतर आए और मारपीट करने लगे। यह तो सरेआम गुंडागर्दी थी। हमनें इसका विरोध किया तो हिन्दू जागरण मंच के लोगों ने दो हवाई फायर भी किए।”

फोटोः आस मोहम्मद कैफ
फोटोः आस मोहम्मद कैफ

इसके तुरंत बाद हंगामा बढ़ने लगा और नकारात्मक अफवाह फैलने लगी। मौके पर सैकड़ों लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई और कुछ लोगों ने जाम लगाने का प्रयास किया। मौके पर पहुंची पुलिस के हाथ पांव फूलने लगे। दोनों पक्ष आमने-सामने आ गए। कांग्रेस नेता जावेद साबरी की सहायता से पुलिस-प्रशासन ने कड़ी मशक्कत करते हुए हालात को काबू में किया।

यह रेस्टोरेंट मुस्लिम बहुल इलाके में है और हिन्दू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं के हंगामे के बाद दोनों तरफ से नारेबाजी होने लगी थी। हिन्दू संगठनों ने इसके बाद नवाबगंज चौक पर जाम लगा दिया। यहां बजरंग दल के प्रांत प्रमुख कपिल मोहड़ा और विहिप मंत्री अनुज ने कहा कि वो हिन्दू हितों पर प्रहार नही होने देंगे। नवरात्रों में चिकन रेस्टोरेंट से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची है।

फोटोः आस मोहम्मद कैफ
फोटोः आस मोहम्मद कैफ

बता दें कि यह रेस्टोरेंट बेहट रोड पर विजय टॉकीज के पास है और सहारनपुर के सांसद फजलुर्रहमान और कांग्रेस नेता जावेद साबरी का घर यहां से 100 मीटर से भी कम दूरी पर है और एसपी विधायक संजय गर्ग का आवास तो बिल्कुल बराबर में है। घटना के तुरंत बाद जावेद साबरी और सांसद पुत्र अरसलान ने लोगों को समझा-बुझाकर शांत किया।

एक और स्थानीय नागरिक और समाजसेवी फैसल खान ने बताया कि यह घटना योजनाबद्ध दिखाई देती है। हिन्दू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने एक दिन नॉनवेज की दुकानें बंद कराने के लिए पहले धरना दिया था। उन्हें प्रशासन के फैसले का इंतजार करना चाहिए था। मगर इनके हौसले इतने बुलन्द हैं कि इन्होंने बिना प्रशासन के ही कानून अपने हाथ मे लेकर जबरन रेस्टोरेंट बंद कराने का साहस किया। यह तो खुली गुंडागर्दी है। ऐसा साफ दिखाई देता है कि यह घटना सिर्फ माहौल खराब करने की नीयत से की गई। इसकी जड़ में विधानसभा चुनाव हो सकता है। प्रशासन को हिन्दू जागरण मंच के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।


वहीं, एसपी सिटी राजेश कुमार ने बताया कि अब दशहरे तक चिकन की दुकानों को बंद करने के निर्देश दे दिए गए हैं और पुलिस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई करेगी। गोली चलाने की बात की पुष्टि भी सीसीटीवी कैमरा से हो जाएगी। दोनों पक्षों में जिस पक्ष की भी गलती है उसके विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia