'समीर वानखेड़ की मां के दो डेथ सर्टिफिकेट, एक में हिंदू और दूसरे में मुसलमान', नवाब मलिक का नया खुलासा

नवाब मलिक की मानें तो समीर वानखेड़े की मां जाहिदा की मौत साल 16 अप्रैल 2015 में हुई थी। उनका पहला डेथ सर्टिफिकेट इसी दिन बनवाया गया था और इस पर इनका धर्म मुस्लिम लिखा गया था। इसके बाद अहले दिन यानी 17 अप्रैल को एक और सर्टिफिकेट भी बनवाया गया जिसमें धर्म को बदलकर हिंदू करवा दिया गया था।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

एनसीपी नेता नवाब मलिक ने एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े पर एक और बड़ा खुलासा किया है। नवाब मलिक ने दावा किया है कि वानखेड़े परिवार ने जाहिदा के दो डेथ सर्टिफिकेट भी बनवाए हैं, एक में वे मुस्लिम हैं जबकि दूसरे में उन्हें हिंदू बना दिया गया है। नवाब मलिक ने समीर की मां जाहिदा का डेथ सर्टिफिकेट भी साझा किया है।

नवाब का दावा है कि उनकी मां मुसलमान थीं और उन्हें ओशिवारा के कब्रिस्तान में दफनाया गया था। नवाब मलिक की मानें तो समीर वानखेड़े की मां जाहिदा की मौत साल 16 अप्रैल 2015 में हुई थी। उनका पहला डेथ सर्टिफिकेट इसी दिन बनवाया गया था और इस पर इनका धर्म मुस्लिम लिखा गया था। इसके बाद अहले दिन यानी 17 अप्रैल को एक और सर्टिफिकेट भी बनवाया गया जिसमें धर्म को बदलकर हिंदू करवा दिया गया था।

एनसीपी नेता नवाब मलिक ने दावा किया है कि वानखेड़े परिवार ने न सिर्फ नौकरी के लिए समीर का धर्म छुपाकर फर्जीवाड़ा किया है बल्कि मां की मौत के बाद भी फर्जीवाड़ा कर दो अलग-अलफ दस्तावेज बनवाए थे।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia