पश्चिम बंगाल विधानसभा बना अखाड़ा, TMC-BJP में मारपीट, शुभेंदु अधिकारी समेत बीजेपी के 5 विधायक सस्पेंड

बंगाल विधानसभा में आज बजट सत्र का आखिरी दिन था। सदन शुरू होते ही बीरभूम हिंसा पर दोनों पक्ष में बहस शुरू हुई और देखते ही देखते बीजेपी विधायक मनोज तिग्गा और टीएमसी विधायक असित मजूमदार में मारपीट हो गई। इसमें मजूमदार घायल हो गए, जिन्हें अस्पताल ले जाना पड़ा।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पश्चिम बंगाल विधानसभा सोमवार को उस समय अखाड़ा बन गया, जब टीएमसी और बीजेपी के विधायक आपस में भिड़ गए। दोनों पार्टियों के नेताओं के बीच जमकर मारपीट हुई। इसमें टीएमसी विधायक असित मजूमदार घायल हुए हैं। इस मामले पर कड़ा एक्शन लेते हुए स्पीकर ने नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी समेत बीजेपी के पांच विधायकों को सस्पेंड कर दिया है।

बंगाल विधानसभा में आज बजट सत्र का आखिरी दिन था। सुबह से ही बीजेपी ने कानून व्यवस्था के मुद्दे पर टीएमसी सरकार को घेरते हुए बीरभूम हिंसा पर सीएम ममता बनर्जी के बयान की मांग को लेकर हंगामा शुरू कर दिया। इसी को लेकर दोनों पक्षों में कहासुनी शुरू हो गई और देखते ही देखते बीजेपी विधायक मनोज तिग्गा और टीएमसी विधायक असित मजूमदार के बीच मारपीट शुरू हो गई। इस हमले में असित मजूमदार घायल हो गए, जिन्हें हॉस्पिटल ले जाया गया है।


इस पूरी घटना पर कड़ी कार्रवाई करते हुए स्पीकर ने पांच विधायकों को अगले आदेश तक निलंबित कर दिया है। जिन नेताओं को सस्पेंड किया गया है, उनमें शुभेंदु अधिकारी, मनोज तिग्गा, नराहरी महतो, शंकर घोष, दीपक बरमन का नाम शामिल है। इसके विरोध विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी के नेतृत्व में बीजेपी विधायकों ने नारेबाजी करते हुए विधानसभा से वॉकआउट किया और दावा किया कि सदन के अंदर टीएमसी विधायकों ने उनकी पार्टी के कई विधायकों के साथ मारपीट की है।

बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी ने मारपीट की घटना और स्पीकर द्वारा सस्पेंड करने पर कहा कि विधायक सदन के भीतर भी सुरक्षित नहीं हैं। तृणमूल के विधायकों ने सचेतक मनोज तिग्गा सहित हमारे कम से कम 8-10 विधायकों के साथ मारपीट की, क्योंकि हम कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बयान की मांग कर रहे थे। उन्होंने कहा कि टीएमसी, उनके गुंडे और पुलिस के खिलाफ हमारा मार्च है। हम स्पीकर के पास भी जाएंगे। बंगाल में जो हालत हैं उसको लेकर केंद्र सरकार को हस्तक्षेप करना चाहिए।


वहीं, इस पूरी घटना को लेकर तृणमूल कांग्रेस के नेता और राज्य सरकार के मंत्री फिरहाद हकीम ने कहा कि बीजेपी विधानसभा में अराजकता फैलाने के लिए नाटक कर रही है। उन्होंने कहा कि बीजेपी के हमले में सदन में हमारे कुछ विधायक घायल हो गए हैं। हम बीजेपी के इस कृत्य की निंदा करते हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia