इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में सुरक्षा गार्ड ने की फायरिंग, भड़के छात्रों और पुलिस में झड़प, कई छात्र घायल

छात्रसंघ बहाली के लिए छात्र प्रदर्शन कर रहे थे, तभी छात्रों और सुरक्षा गार्डों के बीच झड़प हो गई। इसमें पूर्व छात्र विवेकानंद पाठक समेत कई छात्र घायल हो गए, जिससे छात्र उग्र हो गए। इस पर सुरक्षा गार्डों ने कई राउंड फायरिंग कर दी। इससे माहौल और खराब हो गया।

फोटोः ANI
फोटोः ANI
user

नवजीवन डेस्क

इलाहाबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी में एक बार फिर छात्रों और पुलिस के बीच आज भीषण झड़प हो गई, जिसमें कई छात्र घायल हुए हैं। दरअसल आज छात्रसंघ बहाली को लेकर प्रदर्शन कर रहे छात्रों को खदेड़ने के लिए यूनिवर्सिटी के सुरक्षा गार्ड में कई राउंड फायरिंग कर दी, जिससे हंगामा बढ़ गया। हालांकि इस घटना में किसी को गोली नहीं लगी है। लेकिन इस पर हंगामा बढ़ गया, जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची, जिससे प्रदर्शनकारी छात्रों की झड़प हो गई।

मिली जानकारी के अनुसार छात्रसंघ बहाली को लेकर छात्रों का प्रदर्शन चल रहा था, इसी दौरान छात्रों और सुरक्षा गार्डों के बीच झड़प हो गई। इसमें पूर्व छात्र विवेकानंद पाठक समेत कई छात्र घायल हो गए। देखते ही देखते छात्र उग्र हो गए और ईंट-पत्थर चलने लगे। छात्रों ने यूनिवर्सिटी कैंपस में तोड़फोड़ के साथ कुछ गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। इसके बाद यूनिवर्सिटी के सुरक्षा गार्डों ने छात्रों को रोकने के लिए कई राउंड फायरिंग कर दी। इससे माहौल और खराब हो गया।


बवाल की सूचना पर भारी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंचा और ईंट-पत्थर चला रहे छात्रों को रोकने की कोशिश की। लेकिन उग्र छात्र पुलिस से भी भीड़ गए। बवाल की सूचना पर प्रयागराज के पुलिस कमिश्नर रमित शर्मा भी यूनिवर्सिटी पहुंच गए और स्थिति को संभालने में जुट गए। पुलिस ने कहा कि पूर्व छात्र नेता विवेकानंद पाठक कार से यूनिवर्सिटी के अंदर जा रहे थे, जिन्हें सुरक्षा गार्ड ने रोका, जिस पर विवेकानंद ने गार्ड को थप्पड़ मार दिया। इस पर वहां मौजूद सभी गार्डों ने विवेकानंद की जमकर पिटाई कर दी। इस खबर फैलते ही यूनिवर्सिटी के छात्र इकट्ठा हो गए और सिक्योरिटी गार्डों के साथ मारपीट करने लगे, जिस पर सिक्योरिटी गार्ड द्वारा फायरिंग की गई।

इससे पहले भी इलाहाबाद यूनिवर्सिटी फीस बढ़ोतरी के खिलाफ आंदोलनरत छात्रों की पुलिस से तीखी झड़प हो गई थी। उस समय आंदोलन कर रहे कुछ छात्रों ने भू समाधी लेने का ऐलान किया था। जैसे ही कुछ छात्र यूनिवर्सिटी कैंपस में अनशन स्थल के पास कब्र खोदकर भू समाधि लेने की कोशिश करने लगे, वहां मौजूद पुलिसकर्मी एक-एक छात्र को घसीट कर वहां से हटाने लगे। देखते ही देखते वहां माहौल बिगड़ गया और छात्रों और पुलिस के बीच झड़प शुरू हो गई। इस दौरान छात्रों और पुलिस के बीच देर तक धक्का-मुक्की हुई।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;