वीडियो में देखें योगी सरकार के मंत्री पुत्र की गुंडई, बैनर पर फोटो नहीं होने पर बीडीओ को जमकर पीटा

देवरिया के डीएम आशुतोष निरंजन ने सीडीओ रवींद्र कुमार की अध्यक्षता में एक जांच टीम गठित की है। इस टीम में एएसपी राजेश कुमार सोनकर और एसडीएम सदर सौरभ सिंह शामिल हैं। सीडीओ और अन्य अधिकारियों ने गौरीबाजार ब्लॉक पहुंचकर वीडियो फुटेज और अन्य साक्ष्य एकत्र किया।

फोटोः स्क्रीनशॉट
फोटोः स्क्रीनशॉट
user

के संतोष

उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में गौरीबाजार ब्लॉक प्रमुख के पति और योगी सरकार में पशुधन मंत्री जयप्रकाश निषाद के बेटे विश्वविजय निषाद ने शनिवार को जमकर गुंडई की। पंडित दीन दयाल उपाध्याय की जयंती पर आयोजित एक कार्यक्रम में बैनर पर खुद की फोटो नहीं होने पर मंत्री के बेटे ने आपा खो दिया और अपने समर्थकों के साथ मंच पर ही डीआरडीए के परियोजना निदेशक और प्रभारी बीडीओ संजय पांडेय की जमकर पिटाई कर दी। घटना से आहत बीडीओ ने आत्मदाह करने की धमकी दी, तब जाकर मंत्री का बेटा और उसके समर्थक पीछे हटे।

देवरिया के गौरीबाजार ब्लॉक में दीन दयाल उपाध्याय की जयंती पर कार्यक्रम का आयोजन हो रहा था। इसी बीच ब्लॉक प्रमुख अनिता निषाद के पति और पशुधन राज्य मंत्री के बेटे विश्वविजय निषाद अपने समर्थकों के साथ कार्यक्रम में पहुंचे। इसी बीच किसी समर्थक ने विश्वविजय निषाद को बताया कि बैनर पर उनका फोटो नहीं है, जिसे लेकर उन्होंने बीडीओ से आपत्ति जताई। बीडीओ ने बताया कि शासन की तरफ से जारी गाइडलाइन के बाद ही बैनर में फोटो प्रिंट हुए हैं।

इस पर मंत्री पुत्र तत्काल कार्यक्रम से चले गए, लेकिन 20 मिनट बाद गुस्से से आग बबूला होकर फिर कार्यक्रम स्थल पर पहुंच गए। बीच कार्यक्रम में ही मंत्री पुत्र विश्वविजय निषाद मंच पर चढ़ गए और कुर्सी फेंककर बीडीओ को पीटने लगे। अपने नेता का गुस्सा देख समर्थकों ने भी बीडीओ और कर्मचारियों की पिटाई शुरू कर दी। इस दौरान कोई बीच बचाव के लिए नहीं आया।


खुद को खतरे में देख बीडीओ ने आत्महत्या की धमकी दी। इस पर भी मंत्री पुत्र का गुस्सा शांत नहीं हुआ और वह उन्हें पीटते रहे। जब कुछ लोगों ने बीच बचाव किया, तब जाकर मंत्री पुत्र ने अधिकारी को छोड़ा और कार्यक्रम से चले गए। मारपीट की घटना के बाद गौरीबाजार पुलिस मौके पर पहुंची। घटना के बाद देवरिया सदर के बीजेपी विधायक डा. सत्यप्रकाश मणि भी ब्ल़ॉक में आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे। उन्होंने किसान कल्याण मेला में स्टाल आदि का निरीक्षण किया और कार्यक्रम को संबोधित करने के बाद कुशीनगर के लिए रवाना हो गए।

वहीं इस घटना के बारे में राज्यमंत्री के पुत्र विश्वविजय निषाद का कहना है कि ‘मैं मौके पर नहीं था, न ही मैंने हाथापाई की है। जो भी आरोप लगाए गए हैं, वे निराधार हैं।’ वहीं प्रभारी बीडीओ संजय पांडेय का कहना है कि ‘बैनर में जनप्रतिनिधियों की फोटो लगी थी। ब्लॉक प्रमुख का फोटो नहीं था। जिस पर विश्वविजय निषाद नाराज हो गए। उन्होंने समर्थकों के साथ मेरे और कर्मचारियों के साथ हाथापाई की और कुर्सियों से हमला किया।’

डीएम ने गठित की टीम, जांच शुरू

घटना के बाद देवरिया के डीएम आशुतोष निरंजन ने सीडीओ रवींद्र कुमार की अध्यक्षता में जांच टीम गठित की है। इस टीम में एएसपी राजेश कुमार सोनकर और एसडीएम सदर सौरभ सिंह शामिल हैं। सीडीओ और अन्य अधिकारी गौरीबाजार ब्लॉक पहुंचे और वीडियो फुटेज और अन्य साक्ष्य एकत्र किए। सीडीओ ने बताया कि वीडियो में परियोजना निदेशक को कुर्सी से मारते हुए साफ देखा जा रहा है। जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia