रिकॉर्ड बनाने के लिए यूपी पुलिस कर रही ताबड़तोड़ एनकाउंटर, 60 घंटों में 18 शूटआउट

पिछले 60 घंटों में प्रदेश के अलग-अलग शहरों में अपराधियों के साथ हुई मुठभेड़ में यूपी पुलिस ने कई बड़े इनामी अपराधियों को गिरफ्तार करने और एक को ढेर करने का दावा किया है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कासगंज हिंसा के दौरान लापरवाह बनी रही यूपी पुलिस लगता है एनकाउंटर का रिकॉर्ड बनाना चाहती है। अपराधियों पर लगाम लगाने के नाम पर प्रदेश की पुलिस ताबड़तोड़ एनकाउंटर कर रही है। पिछले 60 घंटों के अंदर पुलिस ने प्रदेश के अलग अलग शहरों में 18 से ज्यादा एनकाउंटर किए हैं। इन एनकाउंटर में एक अपराधी को पुलिस ने मार गिराया है, जबकि 30 बदमाशों को गिरफ्तार किया है। ये एनकाउंटर लखनऊ, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, गोरखपुर और कन्नौज जिले में किए गए हैं।

अपराधियों और पुलिस के बीच हुई मुठभेड़ में पश्चिम उत्तर प्रदेश सबसे आगे रहा। मुजफ्फरनगर में भी पुलिस ने मुठभेड के बाद 25 हजार के इनामी अपराधी इन्द्रपाल जाट को मार गिराया है। इन्द्रपाल 30 से ज्यादा बड़ी अपराधिक घटनाओं को अंजाम दे चुका है।

बात राजधानी लखनऊ की की जाए तो यहां डकैती की घटनाओं को अंजाम देने वाले बावरिया गैंग के कुछ बदमाशों के कृष्णानगर स्थित जंगलों में मौजूद होने की खबर पर पहुंची पुलिस की बदमाशों से मुठभेड़ हो गई। यहां दोनों तरफ से चली गोलियों में घायल दो बदमाशों समेत पुलिस ने चार अपराधों को गिरफ्तार कर लिया।

प्रदेश के सहारनपुर के गंगोह इलाके में भी पुलिस की अपराधियों के साथ मुठभेड़ की खबर है। यहां चेकिंग के दौरान पुलिस ने जब बाइक सवार कुछ लोगों को रोका तो वे भागने लगे। जिसके बाद पुलिस उनकी पीछा करने लगी, जिसपर बदमाशों ने फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस की तरफ से की गई जवाबी कार्रवाई में एक 25 हजार के इनामी बदमाश को पैर में गोली लग गई, जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। हालांकि, उसके साथ का दूसरा अपराधी अंधेरे का फायदा उठाकर फरार होने में कामयाब रहा।

कन्नौज में भी पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ की घटना हुई। यहां अपराधियों की गोली से एक इंस्पेक्टर समेत तीन पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। यहां बैट्रियों से भरे एक ट्रक लूटकर भाग रहे अपराधियों को जब पुलिस ने रोकने की कोशिश की तो अपराधियों ने पुलिस पर गोलियां चलानी शुरू कर दी। जिसमें पुलिस वाले घायल हो गए। पुलिस की तरफ से की गई फायरिंग में एक बदमाश घायल हो गया जिसे गिरफ्तार कर लिया गया।

सीएम योगी के गृहजिला गोरखपुर में भी पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ की घटना हुई। यहां पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में 50 हजार का इनामी बदमाश मनीष यादव और एक अन्य अपराधी घायल हो गया, जिन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। यहां बदमाशों के साथ-साथ दो पुलिसकर्मी भी घायल हो गए।

वहीं बागपत जिले में हुई मुठभेड़ में पुलिस की गोली से 15000 का इनामी अपराधी दीपक धामा घायल हो गया, जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस को बागपत के बिजवाडा गांव के जंगलों में दीपक धामा के छिपे होने की खबर मिली थी। जिसके बाद क्राइम ब्रांच की टीम ने पूरे इलाके को घेर लिया। जिसपर बदमाशों ने फायरिंग शुरू कर दी, जिसके जवाब में पुलिस ने भी गोलियां चलानी शुरू कर दी, जिसमें 15000 का इनामी अपराधी दीपक धामा घायल हो गया। कई घंटे चली मुठभेड़ के बाद पुलिस ने यहां से दो और बदमाश रमन और विक्रांत को भी गिरफ्तार किया है। हालांकि सुनील नामक एक अपराधी पुलिस को चकमा देकर फरार होने कामयाब रहा।

बताया जा रहा है कि आने वाले समय में यूपी पुलिस और कई बड़े मुठभेड़ों को अंजाम दे सकती है। ताबड़तोड़ एनकाउंटर से साफ है यूपी पुलिस पूरी तरह से एक्शन के मूड में है, लेकिन इस बीच यह सवाल भी उठता है कि कहीं मुठभेड़ों की संख्या बढ़ाने की कोशिश में पुलिस कहीं बेगुनाहों को ना निशाना बनाने लगे।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia