उत्तर भारत में प्रचंड ठंड! दिल्ली, यूपी, बिहार, राजस्थान, पंजाब में अगले 4 दिनों तक कैसा रहेगा मौसम? IMD का अलर्ट जारी

मौसम विभाग के अनुसार, उत्तर भारत के अधिकतर राज्यों में घना कोहरा और कड़ाके की सर्दी जारी रहने वाली है। अगले 4 दिनों के लिए कोल्ड डे की संभावना जताई गई है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में प्रचंड ठंड का प्रकोप जारी है। ऊपर से घने कोहरे और शीतलहर की मार पड़ रही है। इससे जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। मौसम विभाग की मानें तो आने वाले कुछ दिनों तक लोगों को कड़ाके की सर्दी और शीतलहर से राहत नहीं मिलने वाली है।

दिल्ली-एनसीआर में सर्दी का सितम जारी है। आईएमडी ने शीतलहर, कोल्ड डे और कुछ जगहों पर कोहरे को लेकर रेड अलर्ट जारी किया है। राजधानी में आज अधिकतम तापमान 18 डिग्री सेल्सियस, तो वहीं न्यूनतम तापमान 6 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है।

मौसम विभाग के अनुसार, उत्तर भारत के अधिकतर राज्यों में घना कोहरा और कड़ाके की सर्दी जारी रहने वाली है। अगले 4 दिनों के लिए कोल्ड डे की संभावना जताई गई है। आईएमडी के अनुसार, उत्तराखंड, राजस्थान, बिहार, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब में अगले दो दिनों तक घने से बहुत ज्यादा घने कोहरे की संभावना है। घने कोहरे के कारण यातायात सेवाएं प्रभावित हो रही हैं। विजिबिलिटी कम होने की वजह से पहले से ही ट्रेनें और उड़ानें लेट चल रही हैं।

आईएमडी के मुताबिक, आज बिहार, उत्तराखंड और राजस्थान में घने कोहरे की वजह से रात के समय विजिबिलिटी 50 मीटर तक जा सकती है। दिन के समय इसमें थोड़ा सुधार देखने को मिल सकता है। साथ ही कुछ हिस्सों में तापमान 10 डिग्री तक रह सकता है।


हरियाणा और चंडीगढ़ में इस महीने के आखिर तक कोहरे का असर दिखने की संभावना है। घने कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम होगी। साथ ही न्यूनतम तापमान के भी 9 से 10 डिग्री तक रहने का अनुमान है। आईएमडी ने दोनों जगहों के लिए कोल्ड डे अलर्ट जारी किया है। राजस्थान के कुछ इलाकों में तापमान 5 डिग्री से नीचे रिकॉर्ड किया गया है।

पंजाब की बात करें तो यहां भी लोगों को फिलहाल कड़ाके की सर्दी और घने कोहरे से राहत नहीं मिलने वाली है। शुक्रवार को भी कोहरा देखने को मिलेगा। विजिबिलिटी के 50 मीटर तक पहुंचन सकती है। इसके अलावा पंजाब में आईएमडी ने कोल्ड डे अलर्ट भी जारी किया है। 

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;